रानीखेत में ईद मिलाद-उन-नबी का जश्न और जुलूस पुर अकीदत और एहतेराम से मना, शान- ए- तिरंगे के साथ दिखी नबी के आमद की ख़ुशी

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत : पैगम्बर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद (स.) की विलादत का जश्न पूरी अकीदत और एहतेराम के साथ रविवार को रानीखेत में मनाया गया। ईद मिलाद -उन -नबी पर शहर भर में निकले जुलूस में नबी के आमद की खुशी साफ नजर आई। बड़े, बुज़ुर्ग, नौजवान और बच्चे पूरी अकीदत से जुलूस में शामिल हुए। फिजा में शाने ए तिरंगा के‌ साथ‌ नबी का जिक्र गूंज रहा था।

ग़ौरतलब है कि ईद मिलादुन्नबी अरबी भाषा में इसका शाब्दिक अर्थ है ‘जन्म’ और ‘मौलिद-उन-नबी’ का तात्पर्य है ‘हजरत मुहम्मद साहब का जन्मदिन’, प्रतिवर्ष यह त्योहार 12 रबी अल-अव्वल को मनाया जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक़, हजरत मोहम्मद साहब का जन्म रबि-उल-अव्वल माह के 12वें दिन 570 ई. को मक्का मदीना में हुआ था।

यह भी पढ़ें 👉  विधायक डॉ नैनवाल ने ताड़ीखेत में पशुपालन विभाग की 1962 मोबाइल वेटनरी यूनिट का किया शुभारंभ, लाभार्थियों को बांटे कुक्कुट पालन किट,सीएम विवेकाधीन कोष के चेक

हर वर्ष की तरह इस बार भी रानीखेत में ईद मिलाद-दुन-नबी का त्यौहार पुर अकीदत और एहतराम के साथ मनाया‌ गया। बाजार में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नात शरीफ पढ़ते हुए जलूस निकाला। उसके पश्चात गोविंद सिंह माहरा नागरिक चिकित्साल में जाकर मरीजों को फल वितरित किये गए। वहाँ पर जामा मस्जिद ईमाम शोएब राजा के साथ सी०एम०एस० डॉ० के०के० पांडेय व डॉ० संदीप दीक्षित, हॉस्पिटल स्टॉफ व मुस्लिम समुदाय के लोगों ने देश की खुशहाली, सेना व पुलिस की सलामती, आपसी भाईचारे, मरीजों और डॉक्टरों के लिए अल्लाह से दुआ की गई।

यह भी पढ़ें 👉  झलोडी़ में स्वच्छता अभियान के तहत निकाली रैली, दिया स्वच्छता की अनिवार्यता व महत्ता का संदेश

पूरे मुस्लिम समाज ने कार्यक्रम को सफल बनाने के शासन-प्रशासन, हॉस्पिटल स्टॉफ एवं सभी के सहयोग के लिए शुक्रिया अदा किया।
कार्यक्रम में जामा मस्ज़िद सदर मो० ईरफान, मौज्जन अली हुसैन, मो० अफज़ल, मेहमूद हुसैन, रियाज़ खान, नईम अहमद, रहमतुल्लाह, अकबर हुसैन मो० शाहनावाज़, सोनू सिद्दीकी, शादाब, मो० मोईन, गुड्डू खान, मो० राशिद, मो० शादाब, सलीम अहमद, मो० शफी, मो० सलीम सहित मुस्लिम समुदाय के लोग उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  झलोडी़ में स्वच्छता अभियान के तहत निकाली रैली, दिया स्वच्छता की अनिवार्यता व महत्ता का संदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *