हिमालय दिवस पर रा.बा.इ.कॉलेज द्वाराहाट और रानीखेत पी जी कॉलेज में हिमालय संरक्षण को लेकर हुए कार्यक्रम

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: आज हिमालय दिवस के अवसर जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित किए गए। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज द्वाराहाट में हिमालय के संरक्षण की शपथ दिलाई गई वहीं स्व जय दत्त वैला राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रानीखेत में उत्तराखण्ड के परिप्रेक्ष्य में हिमालय की भूमिका, पारिस्थितिक तन्त्र, जलवायु परिवर्तन, प्राकृतिक आपदाओं के असर व पर्यावरण संरक्षण पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया।


रा. बा. इ. का.द्वाराहाट में हिमालय संरक्षण एवं संवर्धन के लिए हिमालय बचाओ की शपथ ली गई ।प्रधानाचार्या तनुजा जोशी के द्वारा उपस्थित सभी छात्राओं, शिक्षिकाओं एवं कर्मचारियों को हिमालय संरक्षण शपथ दिलाई गई। सभी छात्राओं को संबोधित करते हुए विराट हिमालय राज के महत्व के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हिमालय हमारे देश का मस्तक है। हमें कोई कोई भी ऐसा कार्य नहीं करना चाहिए जो कि पर्वतराज हिमालय को नुकसान पहुंचायें।हिमालय क्षेत्र में परिस्थितिकी तंत्र का संरक्षण जरूरी है। हिमालय के सतत विकास के लिए सबसे पहले हमें हिमालय का संरक्षण करना होगा।हिमालय का संरक्षण ही भावी भविष्य का अस्तित्व बनाये रखेगा। इससे पूर्व शिक्षिका माया मेहरा के निर्देशन में विविध प्रतियोगितायें करायी गयीं।

यह भी पढ़ें 👉  पूर्व मंत्री गोविंद सिंह माहरा की‌103वीं जयंती पर‌ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने चिकित्सालय में मरीजों को फल‌ वितरण किया

स्व. जय दत्त वैला राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रानीखेत में वनस्पति विज्ञान विभाग एवं जन्तु विज्ञान विभाग के संयुक्त तत्वाधान में हिमालय दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर उत्तराखण्ड के परिप्रेक्ष्य में हिमालय की भूमिका, पारिस्थितिक तन्त्र, जलवायु परिवर्तन, प्राकृतिक आपदाओं के असर व पर्यावरण संरक्षण पर चर्चा की गयी ।

यह भी पढ़ें 👉  राजकीय इंटर कॉलेज सिलोर महादेव में विद्यालय प्रबंधन समिति के‌ राजेन्द्र सिंह नेगी और पीटीए के दिनेश चंद्र आर्य अध्यक्ष निर्वाचित

डाoप्राची जोशी द्वारा पारिस्थितिक तन्त्र एवं पर्यावरण सुरक्षा के लिए वृक्षारोपण एवं वृक्षों के सरंक्षण पर प्रकाश डाला गया । डा. दीपा पाण्डे ने हिमालय को राज्य की आर्थिक एवं सामाजिक धरोहर बताते हुए इसकी क्षति पर रोक लगाने का आहवाहन किया। डा० भानु कनवाल द्वारा जलवायु परिवर्तन से, हिमालय मे हो रहे बदलावों की जानकारी दी गयी। अंत में, डा० कोमल द्वारा हिमालय को सुरक्षित रखने के लिए सामूहिक प्रयास करने पर बल दिया गया व सभी छात्र – छात्राओं को हिमालय सुरक्षा की शपथ दिलायी गयी। इस अवसर पर एम. एस. सी. वनस्पति विज्ञान की छात्रा कनुप्रिया पाण्डे द्वारा मंच संचालन व मोनू रावत, कविता,भावना आदि छात्र – छात्राओं द्वारा कविता व भाषण के माध्यम से अपने विचार व्यक्त किए गए।

यह भी पढ़ें 👉  विधायक नैनवाल के जन्मदिन पर कार्यकर्ताओं ने मंदिर में हवन पूजन और अस्पताल में किया रक्तदान व फल‌ वितरण