नई शिक्षा नीति की तीसरी वर्षगांठ पर केंद्रीय विद्यालय रानीखेत में प्राचार्यों की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस,किया नवीन शिक्षा परिवर्तन का उल्लेख

ख़बर शेयर करें -


रानीखेत -राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की तीसरी वर्षगांठ पर आज केंद्रीय विद्यालय रानीखेत में एक संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता केंद्रीय विद्यालय रानीखेत के प्रभारी प्राचार्य श्री प्रवीण शर्मा ने की तथा प्रेस कॉन्फ्रेंस को केंद्रीय विद्यालय अल्मोडा के प्रभारी प्राचार्य श्री बी. राम तथा जवाहर नवोदय विद्यालय ताड़ीखेत के प्राचार्य श्री डी.एस. रावत, आर्मी पब्लिक स्कूल के प्राचार्य श्री कमलेश जोशी ने संबोधित किया ।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मुख्य बिंदुओं पर चर्चा की शुरुआत केंद्रीय विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य श्री प्रवीण शर्मा ने की । उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मुख्य बिंदुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि केंद्रीय विद्यालयों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति का क्रियान्वयन पूरी निष्ठा एवं सजगता के साथ किया जा रहा है उन्होंने कहा कि इसी शिक्षा नीति के दृष्टिकोण एवं शिक्षा नीति के अनुरूप शिक्षण प्रणाली में 5+3+3+4 के अंतर्गत प्रवेश आयु में बदलाव किया गया है,बाल वाटिका परिचय , निपुण, पीएम ई- विद्या, डिजिटल माध्यम का शिक्षा में उपयोग तथा जादुई पिटारा एवं खिलौना आधारित शिक्षण विधि के माध्यम से पठन-पाठन को और आकर्षक तथा रुचिकर बना दिया गया है । शिक्षकों को भी इस शिक्षा नीति के अनुरूप समय-समय पर प्रशिक्षित किया जा रहा है । शिक्षा की प्रक्रिया को आनंदमय बनाने के लिए बच्चों को अधिक से अधिक अवसर प्रदान किए जा रहे हैं ।
केंद्रीय विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य श्री बी. राम ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अन्य बिंदुओं पर प्रकाश डालते हुए बालक के सर्वांगीण विकास में माता-पिता एवं शिक्षक के महत्वपूर्ण योगदान पर प्रकाश डाला I राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में शिक्षक एवं शैक्षणिक बदलाव व प्रशिक्षण, विद्या प्रवेश , कौशल विकास , विद्यांजलि, दीक्षा, आदि की अवधारणा के बारे में विचार प्रस्तुत करते हुए कहा कि केंद्रीय विद्यालयों में नई शिक्षा नीति के सभी बिंदुओं का समावेश करते हुए शनिवार को आनंदवार या फन डे के रूप में मनाया जा रहा है ।
जवाहर नवोदय विद्यालय के प्राचार्य ताड़ीखेत के प्राचार्य श्री डी.एस. रावत ने नवोदय विद्यालयों में शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि वहां बच्चों को अधिक से अधिक अवसर प्रदान किए जा रहे हैं एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि नेतृत्व प्रशिक्षण के दृष्टिगत विद्यालय में 12 सदनों का गठन किया गया है जिसके माध्यम से बच्चों को नेतृत्व क्षमता का विकास करने का अवसर मिलता है।
आर्मी पब्लिक स्कूल रानीखेत के प्राचार्य श्री कमलेश जोशी ने देश में इस संस्था के विभिन्न विद्यालयों में शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि वहां बच्चों को अधिक से अधिक अवसर प्रदान किए जा रहे हैं एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि विद्यालय में अटल टिनकरिंग प्रयोगशाला,360० रिपोर्ट कार्ड जिसमे शिक्षा, अभिभावक,विद्यार्थी के साथी एवं विद्यार्थी स्वयं अपना मूल्यांकन करेंगे ।
ज्ञातव्य है कि नई शिक्षा नीति 2020 की शुरुआत 29 जुलाई 2020 को प्रधानमंत्री द्वारा की गई थी तथा 29 जुलाई 2023 को 2 दिन के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आईटीपीओ प्रगति मैदान नई दिल्ली में नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के संबंध में देशवासियों को संबोधित करने की संभावना है । 29 जुलाई को सभी विद्यालयों को इस कार्यक्रम के प्रसारण को बच्चों को लाइव दिखाए जाने के निर्देश दिए गए हैं जिससे बच्चों को नई शिक्षा नीति के बारे में अधिक से अधिक जानकारी हो सके।
विद्यालय के शिक्षक श्री मनोज भूषण शुक्ल ने कार्यक्रम का संचालन किया तथा आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न समाचार पत्रों एवं चैनलों के संवाददाताओं ने कृत्रिम बुद्धिमता, बच्चों में हिचक को दूर करने, उनका सर्वांगीण विकास करने आदि के बारे में प्रश्न पूछे जिनके वक्ताओं ने उत्तर दिए ।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल