जिलाधिकारी ने किया द्वाराहाट इंजीनियरिंग काॅलेज का निरीक्षण, छात्राओं से बातचीत कर जानी दिक्कतें,कालेज प्रशासन को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

ख़बर शेयर करें -

द्वाराहाट-: निदेशक/जिलाधिकारी वन्दना सिंह ने आज द्वाराहाट स्थित विपिन त्रिपाठी कुमाऊॅ इंजीनियरिंग कालेज का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने भोजन, पेयजल, विद्युत सहित अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी ली और कालेज परिसर का स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कालेज में अध्ययनरत् छात्राओं से वार्ता की और कालेज द्वारा दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने सभी छात्रावासों में शुद्व पेयजल हेतु आरओ मशीन लगाने के भी निर्देश दिये। 

                           
इस अवसर पर उन्होंने संस्थान में अध्ययनरत् छात्र संख्या व संस्थान में संचालित किये जा रहे पाठक्रमों के बारे में जानकारी प्राप्त की। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जो भवन जीर्ण-शीर्ण हो चुके है उनके ध्वस्तीकरण का प्रस्ताव बनकार उनका निस्तारण किया जाय। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने संस्थान में स्थित छात्रावासों का निरीक्षण भी किया और वहॉ पर जो मरम्मत कार्य किये जाने है उन मरम्मत कार्यों को शीघ्र प्रारम्भ करने के निर्देश दिये।
                                         
 निरीक्षण के उपरान्त जिलाधिकारी ने सभी विभागाध्यक्षों के साथ बैठक की। बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि 03 माह एवं 06 माह के पाठ्यक्रमों को यहॉ पर संचालित कराया जाय जिससे छात्रों में इंजीनियरिंग के प्रति जागरूकता पैदा हो। उन्होंने कहा कि इन लघु पाठय्क्रमों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाय ताकि अधिक से अधिक छात्र इन पाठ्यक्रमों से लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा कि कालेज की समस्या को लेकर छात्रों को प्रोजेक्ट दिया जाय ताकि उस समस्या का निदान हो सके। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्य शिक्षाधिकारी द्वारा कक्षा 09 से 12वीं तक के छात्र-छात्राआंे का इस संस्थान में समय-समय पर भ्रमण कराया जाय ताकि बच्चों को विज्ञान के प्रति जिज्ञासा पैदा हो। 

यह भी पढ़ें 👉  'आजादी का अमृत महोत्सव'के अंतर्गत छावनी इंटर‌ कालेज के‌ विद्यार्थियों ने नुक्कड़ नाटक के जरिए‌ दिया देश प्रेम का संदेश

                                         
उन्होंने कहा कि कालेज के कार्यों को लेकर जो प्रस्ताव शासन को भेजे जाने है उन्हें तत्काल भेजा जाय ताकि कार्यों की अनुमति व धनराशि समय से मिल सके। इस दौरान उन्होंने कालेज परिसर में सी0सी0टी0वी0 कैमरे व सौलर लाईट लगाने का प्रस्ताव जल्द ही भेजने के निर्देश दिये। इस दौरान उपजिलाधिकारी जयवर्धन शर्मा, कुलसचिव अजीत सिंह सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  'आजादी का अमृत महोत्सव' के उपलक्ष्य में रानीखेत में ‌‌‌‌‌‌भाजयुमो ने दोपहिया काफिले के साथ निकाली तिरंगा यात्रा

इधर बिपिन त्रिपाठी कुमाऊं इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में द्वाराहाट के पूर्व विधायक पुष्पेश त्रिपाठी ने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं को लेकर जिलाधिकारी वन्दना सिंह से विस्तृत वार्ता की। उन्होंने बीटीकेआई की विभिन्न समस्याओं सहित राज्य आंदोलनकारियों के चिन्हीकरण ,तडागताल क्षेत्र में संचार ब्यवस्था दुरुस्त करने की मांग को लेकर वार्ता की। गौरतलब हो कि,बीटीकेआईटी में अध्ययन छात्रों से कोविडके समय जब कालेज बंद था उस बीच मैस कर्मचारियों के वेतन को लेकर छात्रों से पैसा वसूल किया गया था। जबकि शासन द्वारा उक्त मद के प्रस्ताव पर पैसा दिया जा रहा था। लेकिन कालेज प्रशासन ने इसका शासन को प्रस्ताव नहीं दिया था।इसपर पुष्पेश त्रिपाठी ने छात्रों का पैसा उन्हें वापस दिलाने की मांग रक्खी ।जिस पर जिलाधिकारी ने इसको गम्भीरता से लेते हुए छात्रों का पैसा वापस होने की बात कही है।इसके साथ ही कालेज के मैस कर्मचारियों की विगत दिनों चली हड़ताल, वहां के सुरक्षाकर्मियों की समस्याओं आदि पर विस्तृत चर्चा कर उनकी मांगों का समाधान करने की अपेक्षा की।श्री त्रिपाठी ने वंचित राज्य आंदोलनकारियों के चिन्हीकरण पर भी जिलाधिकारी से वार्ता की।इसके अतिरिक्त उन्होंने तडागताल क्षेत्र में विगत लम्बे समय से बाधित दूरसंचार की सेवाओं से परेशान क्षेत्रवासियों को शीघ्र दूरसंचार सेवाओं का लाभ दिलाने की पुरजोर मांग की।श्री त्रिपाठी ने बताया कि,तडागताल क्षेत्र में स्थापित बीएसएनएल टावर को भी विभाग द्वारा उखाड़ ले जाने से व अन्य कोई दूरसंचार सेवाएं न होने से बच्चों की आनलाइन पढ़ाई सहित सभी सेवाओं के ठप्प होने की जानकारी देते हुए क्षेत्र में शीघ्र संचार सेवाएं बहाल करने की मांग की। जिलाधिकारी ने सभी समस्याओं पर समाधान करने का आश्वासन दिया है।इस अवसर पर कुलसचिव प्रो अजीत सिंह,मोहन सिंह रावत, महेश त्रिपाठी आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस की 'भारत जोड़ो तिरंगा यात्रा' देश भक्ति गीतों और स्वतंत्रता सेनानियों की गाथा‌ लेकर‌ पहुंची गांव -गांव

Leave a Reply

Your email address will not be published.