‘अति रिस बोले बचन कठोरा, कहु जड़ जनक धनुष कै तोरा’ लालकुर्ती रामलीला में परशुराम -लक्ष्मण संवाद देखने ठंड में भी डटे रहे दर्शक

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत-नगर के समीपवर्ती कुमपुर बाजार लालकुर्ती में श्रीरामलीला मंचन के दूसरे दिन परशुराम -लक्ष्मण संवाद देखने के लिए दर्शक बढ़ती ठंड के बावजूद देर रात तक डटे रहे।

यह भी पढ़ें 👉  वोट डालने हल्द्वानी जा रहे चिकित्सक की कार अनियंत्रित होकर खाई में गिरी, हुई मौत,

बता दें कि कुमपुर बाजार लालकुर्ती में दशकों से श्रीरामलीला का‌ मंचन होता आया है। यहां की श्रीरामलीला की विशेषता रही है कि यहां हिंदू -मुस्लिम कलाकार मिलजुल श्री रामलीला मंचन‌ में अभिनय और पार्श्व कार्य करते आए हैं। इस बार युवाओं ने श्री रामलीला मंचन का बीड़ा उठाया है। श्रीरामलीला के दूसरे दिन सीता स्वयंवर के साथ‌ परशुराम -लक्ष्मण संवाद मुख्य आकर्षण रहा। परशुराम और लक्ष्मण की भूमिका को दोनों कलाकारों ने मंच पर जीवंत रूप से उतारा। दर्शक देर रात‌ तक चले प्रसंग को‌ देखने के लिए दत्तचित्त होकर बैठे रहे।

यह भी पढ़ें 👉  इस बार उत्तराखंड में 2019 की‌ तुलना में कम हुआ मतदान,पूरे प्रदेश में 53.56मतदान, उदासीन दिखा मतदाता