रानीखेत में बैंक कर्मियों की हड़ताल का व्यापक असर, बैंक कर्मियों ने तालाबंदी कर गांधी चौक पर किया प्रदर्शन

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत:यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के विरोध में आज बैंक कर्मचारियो की दो दिनी देशव्यापी हड़ताल का पहले दिन रानीखेत में भी पूर्ण असर देखा गया।बैंक कर्मचारियों ने प्रातः बैंकों में तालाबंदी करने के साथ गांधी चौक पर एकत्र होकर बैंकों के निजीकरण के विरोध में नारेबाजी की।
यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर देशव्यापी हड़ताल का रानीखेत में भी पूराअसर दिखा।आज सभी बैंकों में ताले लटके रहे।हड़ताल में सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारी शामिल रहे। बैंक कर्मचारियों ने गांधी चौक में एकत्र होकर बैंकों के निजीकरण के खिलाफ प्रदर्शन भी किया। बता दें कि केंद्र सरकार संसद के मौजूदा सत्र में बैंकिंग कानून संशोधन विधेयक लेकर आ रही है जिससे भविष्य में किसी भी सरकारी बैंक को निजी क्षेत्र में देने का रास्ता साफ हो जाएगा।
बैंक कर्मचारी व अधिकारी सरकार के इस निर्णय के खिलाफ लामबंद होकर 16 व 17 दिसंबर की दो दिन की देशव्यापी हड़ताल पर हैं।जिसका आह्वान यूएफबीयू ने किया है। यूएफबीयू नौ यूनियनों का एकछत्र निकाय है, जिसमें अखिल भारतीय बैंक अधिकारी परिसंघ (AIBOC),अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (AIBEA) और राष्ट्रीय बैंक कर्मचारी संगठन (NOBW) शामिल हैं। इस यूनियन के अधीन 9 लाख कर्मचारी हैं। इन कर्मचारियों के हड़ताल का रास्ता पकड़ लेने से जनता की परेशानी बढ़ने वाली है।गुरूवार और शुक्रवार हड़ताल रहने और फिर शनिवार ,रविवार होने से अब जनता को बैंक धकार्यों के लिए चार दिन बाद सोमवार का इंतजार करना होगा।आज के प्रदर्शन में दीपक पांडे, आकाश सिडोला , रजनेश सिंह ,संजीव कुमार , गौरव तिवारी , मुकेश कुमार , यशपाल चौहान सहित सभी बैंकों के कर्मचारी शामिल हुए।

रानीखेत में बैंकों में तालाबंदी करते बैंक कर्मी
रानीखेतप्रदर्शन करते बैंक कर्मी

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.