तृतीय पं ख्यालीराम सती स्मृति शिक्षक सम्मान समारोह में पांच आदर्श शिक्षक हुए सम्मानित, रानीखेत इंटर कॉलेज में भव्य आयोजन

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत -तृतीय पं ख्यालीराम सती स्मृति शिक्षक सम्मान समारोह आज रानीखेत मिशन इंटर कॉलेज के सभागार में भव्य रंगारंग कार्यक्रम के साथ संपन्न हुआ।इस अवसर पर ताड़ीखेत विकासखण्ड के पांच आदर्श शिक्षकों को सम्मानित किया गया।इसके अलावा उत्तराखंड हाईस्कूल बोर्ड में हिंदी में शत -प्रतिशत अंक प्राप्त किए दो विद्यार्थियों को पंकजलता सती हिंदी प्रतिभा सम्मान प्रदान किया गया।
तृतीय पं ख्यालीराम सती स्मृति शिक्षक सम्मान समारोह का आज गरिमापूर्ण आयोजन रानीखेत मिशन इंटर‌ कालेज में हुआ। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गाजियाबाद से आए मुख्य अतिथि वैज्ञानिक डॉ एन सी तिवारी ने पं ख्यालीराम सती को आदर्श शिक्षक बताते हुए कहा कि उनके सीख और शिक्षा ने जीवन में आगे बढ़ने का रास्ता दिया। कहा कि इस विद्यालय ने उन्हें अनुशासन ,शिक्षा, मैत्री भाव की प्रेरणा दी ,जब भी यहां आता हूं, भावाभिभूत हो जाता हूं। उन्होंने कहा कि‌एक नेक विद्यार्थी को गढ़ने के लिए शिक्षकों में समर्पण की भावना होनी चाहिए, खुशी है कि आज सम्मान पा रहे पांच शिक्षक हमारे बीच मौजूद हैं।
विशिष्ट अतिथि डीएससीएल श्रीराम प्रा. लि. के वाइस प्रेसिडेंट मनीष जोशी ने बताया कि उनकी बेसिक से लेकर उच्च शिक्षा रानीखेत में हुई, उन्होंने आज के दिन को गौरवमयी पल बताते हुए कहा कि आज वे शिक्षकों को सम्मानित करते हुए स्वयं सम्मानित महसूस कर‌ रहे हैं क्योंकि शिक्षक ही श्रेष्ठ राष्ट्र और श्रेष्ठ समाज का निर्माता है। उन्होंने सम्मानित होने वाले शिक्षकों को शुभकामनाएं दी।
समारोह में मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि ने विकास खंड के पांच आदर्श शिक्षकों को सम्मानित किया। सम्मानित होने वाले शिक्षकों में डा विनीता खाती सहायक अध्यापिका, राजकीय जूहा गाड़ी, रेखा बिष्ट, प्रधानाध्यापिका राजकीय प्राथमिक विद्यालय बयेडी़ , विनोद खुल्बे प्रधानाचार्य, सिटी मांटेसरी स्कूल गनियाद्योली, दामोदर पांडेय प्रधानाध्यापक राजकीय प्राथमिक विद्यालय सौला, बिल्लेख और संगीता वर्मा पूर्व प्रधानाध्यापिका राजकीय प्राथमिक विद्यालय सिंगोली शामिल रहे। हाईस्कूल बोर्ड में हिंदी विषय में सौ में से सौ अंक लाने विवेकानंद विद्या मंदिर के विनय भट्ट और अंजू बिष्ट को पंकजलता सती स्मृति हिंदी प्रतिभा सम्मान से‌ नवाजा गया।यह सम्मान पीजी कालेज की पूर्व प्राचार्य डॉ जया पांडे और श्रीमती शांति सती ने प्रदान किए।
इससे पूर्व समारोह के संयोजक वरिष्ठ पत्रकार विमल सती ने पं ख्यालीराम सती के जीवन वृत्त और कार्यक्रम की रुपरेखा पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर पं ख्यालीराम सती की कनिष्ठ पुत्री श्रीमती शांति सती को भी शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। समारोह की अध्यक्षता प्रधानाचार्य सुनील मसीह और संचालन मनोज जोज़फ ने किया। इससे पूर्व प्रधानाचार्य सुनील मसीह, सांस्कृतिक समिति के हरीश लाल साह, कार्यक्रम संयोजक विमल सती और छावनी सदस्य मोहन नेगी ने मुख्य अतिथि , विशिष्ट का पुष्प गुच्छ व स्मृति चिन्ह देकर स्वागत किया। विद्यार्थियों ने वंदना,स्वागत गीत व नेपाली नृत्य प्रस्तुत किए।
समारोह में हरीश साह,गौरव भट्ट,दीपक पंत,एस एस राणा, सोनू सिद्दीकी, राजेन्द्र जसवाल, देवी दत्त बिष्ट, कैलाश पांडे, मीना पांडे,गीता पवार, सतीश पांडेय, आनंद अग्रवाल, डीसी जोशी, रमेश बिष्ट, पूरन नेगी, कैलाश चंद्र सती , महेश जोशी, उमेश पंत, दीपक शर्मा, प्रताप सिंह नेगी, सारिका वर्मा आदि अनेक शिक्षक -शिक्षिकाएं व नागरिक मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  पानी, बिजली और क्षेत्रीय समस्याओं को लेकर तहसील मुख्यालय भिकियासैण में किया प्रदर्शन