अनाज,गुड़ आदि पर प्रस्तावित पांच फीसदी जीएसटी के विरोध में व्यापार मंडल ने केंद्रीय वित्त मंत्री को भेजा ज्ञापन

ख़बर शेयर करें -

रानीखेतः अनाज, गुड़ आदि में प्रस्तावित 5% GST लगाए जाने के विरोध में आज 16 जुलाई को भारतीय उद्योग व्यापार मंडल द्वारा संपूर्ण भारत में व्यापार बंद करने का आह्वान किया गया था। जिसके अनुपालन में आज रानीखेत में भी बाजार बंद किया जाना था, परन्तु हरेला पर्व को देखते हुए त्यौहार के दिन बाजार बंद होने से आम जनता को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता। जिस कारण जिला व्यापार मंडल द्वारा आज बाजार बंद नहीं करने का निर्णय लिया गया। परन्तु 5% GST लगाए जाने के विरोध में एवं राष्ट्र व्यापी बंद को समर्थन देने के लिए आज प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल की जिला इकाई, रानीखेत नगर इकाई, चिलियानौला नगर इकाई द्वारा संयुक्त रूप से एक ज्ञापन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत के माध्यम से प्रेषित किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  हाथ से हाथ जोड़ो यात्रा के माध्यम से कांग्रेसजन सामाजिक समरसता का संदेश लेकर निकलेंगे:प्रदीप टम्टा

ज्ञापन में कहा गया कि जीएसटी काउंसिल द्वारा कई वस्तुओं पर जीएसटी दरों को बढ़ाने और प्री पैक्ड एवं प्री लेवल खाद्यान्न जैसे गेहूं, आटा, दाल, चावल आदि पर 5% जीएसटी वसूलने का प्रावधान करने की अनुशंसा की गई है, जिसका हम प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल, उत्तराखंड की रानीखेत जिला, रानीखेत नगर एवं चिलियानौला इकाई पुरजोर विरोध करती है और भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के आहवाहन पर आयोजित बंद का पूर्ण समर्थन करती है।

यह भी पढ़ें 👉  रमेश की हत्या का २४घंटे में खुलासा, अवैध संबंध के चलते हुई थी हत्या, पत्नी,प्रेमी और एक अन्य गिरफ्तार

कहा गया कि पूर्व में प्रधानमंत्री द्वारा जीएसटी के एक देश एक टैक्स को बहुत ही सरल व उपयोगी मानते हुए लागू किया गया था, लेकिन जीएसटी काउंसिल द्वारा इसका स्वरूप अत्यंत जटिल व निरंतर वृद्धि वाली टैक्स प्रणाली बना दिया गया है, जिससे व्यापारी बहुत ही परेशानी महसूस कर रहा है।ज्ञापन में वित्त मंत्री से आशा करते हुए कहा गया है कि जीएसटी काउंसिल द्वारा प्रस्तावित जीएसटी दरों में वृद्धि और खाद्यान्न पर लगाए गए टैक्स को तत्काल प्रभाव से निरस्त करने की कृपा करेंगी।

यह भी पढ़ें 👉  पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम ने नशे के सौदागर को दबोचा,13 लाख की स्मैक बरामद

ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष मोहन नेगी, नगर अध्यक्ष चिलियानौला कमलेश बोरा, नगर अध्यक्ष रानीखेत मनीष चौधरी, व्यापारी नेता मनोज अग्रवाल, जिला मीडिया प्रभारी कामरान कुरैशी, हर्षवर्धन पंत, अमित हर्बोला, कमल कुमार, आदि उपस्थित थे। कार्यलय बंद होने के कारण ज्ञापन संयुक्त मजिस्ट्रेट आवास पर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *