बड़ी खबर: गौरीकुंड में भूस्खलन,तीन दुकानें ध्वस्त,13लोग लापता, रोकी गई केदारनाथ यात्रा

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड में एक बार फिर भारी बारिश का कहर देखने को मिला है। केदारनाथ धाम के मुख्य पड़ाव गौरीकुंड सोनप्रयाग और आसपास में भारी बारिश ने जमकर तबाही मचाई है। गौरीकुंड में पहाड़ी से मलबा गिरने की वजह से तीन दुकानें ध्वस्त हो गई हैं। जिस वक्त पहाड़ी से मलबा गिरा, उस समय दुकान में कई लोग सो रहे थे। इन लोगों का कुछ पता नहीं लग पा रहा है। इस घटना में 13 लोगों के लापता होने की सूचना है। सूचना पाकर एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

 

लगातार बारिश के कारण रेस्क्यू शुरू नहीं हो पा रहा है। लोगों के मलबे में दबे होने या फिर मंदाकिनी नदी में बहने की आशंका जताई जा रही है। घटना में लापता 13 लोगों में से ज्यादातर लोग नेपाली मूल के बताए जा रहे हैं। वही लोग इन दुकानों का संचालन करते थे। वहीं हादसे में लापता होने वालों की संख्या बढ़ सकती है। कुछ स्थानीय लोगों का भी पता नहीं चल पा रहा है। रात को सर्च अभियान के दौरान भी कोई नहीं मिला है। एसडीआरएफ से मिली सूचना के अनुसार अनुमानित 13 लोग लापता चल रहे हैं। इनमे नेपाली और स्थानीय लोग शामिल हैं। घटना वाले स्थान पर कुछ भी नही मिला है। नीचे से मंदाकिनी नदी भी उफान में बह रही है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि इस हादसे में लापता चल रहे लोग मंदाकिनी नदी की तेज धारा में बह गए होंगे। फिलहाल बारिश जारी है और रेस्क्यू अभियान नहीं चल पा रहा है। बारिश रुकने पर ही दोबारा रेस्क्यू अभियान शुरू किया जाएगा। वहीं भारी बारिश के कारण केदारनाथ यात्रा को फिलहाल रोक दिया गया है।