रानीखेत में शरदोत्सव आयोजन की परम्परा पर ब्रेक लगना दुर्भाग्यपूर्ण, शीघ्र जिलाधिकारी से मिलेंगे संगठन प्रतिनिधि

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: सांस्कृतिक समिति और व्यापार मंडल की बैठक में रानीखेत में उत्सव आयोजनों की परम्परा पर विराम लगने पर चिंता व्यक्त करते हुए शरदोत्सव के आयोजन की मांग प्रशासन से की गई साथ ही इस संबंध में जिलाधिकारी से मिलने का निर्णय लिया गया।


सांस्कृतिक समिति अध्यक्ष विमल सती की अध्यक्षता में हुई बैठक में कहा गया कि रानीखेत में शरदोत्सव और ग्रीष्मोत्सव आयोजन की अविच्छिन्न परम्परा रही है ,आजादी पूर्व से ये आयोजन होते चले आए हैं। इन‌ आयोजनों पर विराम लगना दुर्भाग्यपूर्ण है। बैठक में कहा गया कि प्रशासन की उदासीनता, स्थानीय नागरिक संगठनों की जागरुकता में कमी और उत्सव‌ स्थल के लिए मैदान न मिलने‌ के चलते नगर में उत्सव आयोजनों पर विराम लग गया है। बैठक में निर्णय लिया गया कि इस संबंध में शीघ्र एक शिष्टमंडल जिलाधिकारी से मिलकर नवम्बर दूसरे पखवाड़े में ‌शरदोत्सव आयोजित कराने और इस‌ हेतु नर सिंह स्टेडियम उपलब्ध कराने‌ की मांग करेगा।

यह भी पढ़ें 👉  स्व. जय दत्त वैला पी जी कालेज में समारोहपूर्वक मनाया गया एनसीसी दिवस, कैडेट्स ने पेश किए देश भक्ति कार्यक्रम

बैठक में नंदा देवी समिति अध्यक्ष एवं सांस्कृतिक समिति के वरिष्ठ सदस्य हरीश लाल साह, वरिष्ठ पत्रकार नंद किशोर गर्ग, छावनी परिषद से राजेन्द्र पंत, व्यापार मंडल महासचिव संदीप गोयल, उपाध्यक्ष दीपक पंत, कोषाध्यक्ष भुवन पांडेय, उपसचिव विनीत चौरसिया, हेलो कुमाऊं टीम से मनीष सद्भावना, नीरज फर्तयाल, सांस्कृतिक टीम के गौरव तिवारी, गौरव भट्ट, अशोक पंत, पंकज थापा, सोनू सिद्दीकी आदि लोग उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  CARE' संस्था द्वारा हिमांशु पाठक व कमल गोस्वामी को 'फोटोग्राफर ऑफ रानीखेत' सम्मान के लिए चुना गया, शीघ्र किया जाएगा सम्मान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *