केंद्रीय विद्यालय रानीखेत में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम शिविर में हुई विद्यार्थियों के स्वास्थ्य की जांच

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत -स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय द्वारा शुरू किए गए राष्‍ट्रीय ग्रामीण स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के अंतर्गत आज केंद्रीय विद्यालय रानीखेत में आयोजित राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम शिविर में विद्यार्थियों के स्वास्थ्य की जांच की गई।


ध्यातव्य है कि स्वास्थ्य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय द्वारा शुरू किए गए राष्‍ट्रीय ग्रामीण स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के तहत बाल स्‍वास्‍थ्‍य जांच और जल्‍द उपचार सेवाओं का उद्देश्‍य बच्‍चों में चार तरह की परेशानियों की जल्‍द पहचान और प्रबंधन है। इन परेशानियों में जन्‍म के समय किसी प्रकार का विकार, बच्‍चों में बीमारियां, कमियों की विभिन्‍न परिस्थितियां और विकलांगता सहित विकास में देरी शामिल है।
इसी कार्यक्रम के तहत केंद्रीय विद्यालय रानीखेत में भी राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम का शिविर किया गया। इसमें डॉ. देवेन्द्र उप्रेती (स्वास्थ्य अधिकारी), डॉ. शिखा जोशी (महिला स्वास्थ्य अधिकारी) तथा आशा मनराल (फार्मासिस्ट) ने विद्यार्थियों के स्वास्थ्य की जाँच की |

यह भी पढ़ें 👉  नंदादेवी मंदिर के विंशति: प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के मौके पर विभिन्न पूजा अनुष्ठानों के साथ‌ विशाल‌ भंडारा, सैकड़ों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद

इस कार्यक्रम के तहत ही विद्यालय की दो छात्राओं रक्षिता भगत कक्षा चौथी तथा तनिष्का रावत कक्षा नवीं की सफलता पूर्वक ओपन हार्ट सर्जरी आयुष्मान कार्यक्रम द्वारा की गई है। इसके लिए विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री राकेश कुमार धर दुबे ने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की सराहना करते हुए इसके महत्त्व पर प्रकाश डाला ।

यह भी पढ़ें 👉  नंदादेवी मंदिर के विंशति: प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के मौके पर विभिन्न पूजा अनुष्ठानों के साथ‌ विशाल‌ भंडारा, सैकड़ों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद