संस्कृति के ध्वज वाहक शिवचरण पांडे नहीं रहे,संस्कृतिकर्मियों में शोक की लहर

ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ा: संस्कृति के ध्वज वाहक शिवचरण पांडे नहीं रहे।स्व.पांडे पूरे उत्तराखंड में संस्कृति के ध्वज वाहक के रूप में जाने जाते थे। स्व. पांडे बीते कई महीनों से अस्वस्थ चल रहे थे। मंगलवार सुबह उन्होंने जौहरी बाजार स्थित अपने निवास स्थान में अंतिम सांस ली। उनके निधन पर पूरा अल्मोड़ा शोक की लहर में डूब गया है।

पूरा जीवन सांस्कृतिक युग में समर्पित किया-

स्व. पांडे संस्कृति के संरक्षण और उसको बढ़ावा देने में यहां के लोगों के लिए सदैव अग्रणी रहे है। इनका वर्ष 1978 से हुक्का क्लब की रामलीला कराने में अहम योगदान रहा। स्व. पांडे जी दशरथ का जीवंत पाठ खेला करते थे। जिसे देखने के लिए दूर दूर से लोग आते थे। रामलीला मंचन से लेकर प्रसिद्ध बैठकी होली की परंपरा से समाज को जोड़े रखने की एक ऐसी ही मिसाल थे रंगकर्मी शिवचरण पांडे। कुमाऊं की रामलीला व बैठकी होली की शुरुआत अल्मोड़ा से ही मानी जाती है। नगर का त्रिपुरा सुंदरी नव युवक कला केंद्र व लक्ष्मी भंडार हुक्का क्लब ने इन परंपराओं को संरक्षण देने व इसके प्रसार में अहम भूमिका निभाता आ रहा है। राग रागिनियों पर आधारित रामलीला व बैठकी होली को सरंक्षण देने में लक्ष्मी भंडार के वरिष्ठ रंगकर्मी शिवचरण पांडे का बहुत योगदान रहा है। संगीत के प्रति रुचि और अपनी संस्कृति से लगाव के कारण वह पिछले 42 वर्षो से इस विधा को नया आयाम दे रहे हैं। उन्होंने श्री लक्ष्मी भंडारों हुक्का क्लब को सांस्कृतिक संस्था के रूप में पूरे भारत में पहचान दिलाने में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। बैठकी होली को संजोने व उसे विश्व प्रसिद्ध बनाने में भी श्री शिवचरण पांडे की महत्वपूर्ण भूमिका रही। श्री शिवचरण पांडे जी की उम्र 86 वर्ष थी। वह अपने पीछे पत्नी दो बेटे तीन बेटियों सहित भरा पूरा परिवार छोड़ कर गए। उनके निधन से सांस्कृतिक क्षेत्र में एक शून्य उत्पन्न हो गया है। उनके द्वारा निकाले जाने वाली पुरवासी पत्रिका आज कई शोधों में प्रयोग की जा रही है। रामलीला में निभाए गए उनके चरित्रों को जिसमें विशेषकर दशरथ का चरित्र कोई भुला नहीं पाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  CARE' संस्था द्वारा हिमांशु पाठक व कमल गोस्वामी को 'फोटोग्राफर ऑफ रानीखेत' सम्मान के लिए चुना गया, शीघ्र किया जाएगा सम्मान

उनके निधन पर श्री लक्ष्मी भंडार संस्था के अध्यक्ष श्री राजेंद्र तिवारी, संस्था के कोषाध्यक्ष ललित मोहन साह, त्रिभुवन गिरी महाराज, वरिष्ठ रंगकर्मी नवीन बिष्ट, धर्म जागरण समन्वय विभाग के कुमाऊँ संयोजक अरविंद चंद्र जोशी, मनोज सिंह पवार, कुमाऊं परियोजना संयोजक, पंडित राजेश जोशी (शास्त्री जी) विभाग संस्कृति संयोजक, दीपक वर्मा जिला संयोजक, सुनील कुमार कुमाऊं संपर्क प्रमुख/विभाग संयोजक, हिमांशु साह, जिला संपर्क प्रमुख, हेम चंद्र गुरूरानी, जिला प्रशासनिक प्रमुख, गंगा जोशी मातृशक्ति विभाग प्रमुख, प्रो0 आराधना शुक्ला ज़िला संयोजिका मातृशक्ति धर्म जागरण समन्वय, विहान संस्था, विक्टोरिया गोल्डन परिवार ने गहरा शोक व्यक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *