जी॰ डी॰ बिरला मैमोरियल स्कूल का 36 वाँ वार्षिक समारोह रंगारंग कार्यक्रम के साथ संपन्न

ख़बर शेयर करें -


रानीखेत -आज जी॰ डी॰ बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में 36 वें वार्षिक समारोह भव्य रंगारंग कार्यक्रम के साथ संपन्न हुआ। समारोह का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि लेफ्टिनेंट कर्नल वी॰ एस॰ दानू सैकिंड आई॰ सी॰ ट्रेनिंग बटालियन के॰ आर॰ सी॰ ने दीप प्रज्वलित कर किया।
इससे पूर्व वरिष्ठ प्रधानाचार्य मोहम्मद आसिम अली ने मुख्य अतिथि लेफ्टिनेंट कर्नल वी एस दानू का स्वागत किया और विद्यालय के समस्त छात्र-छात्रा प्रतिनिधिमंडल से उनका परिचय कराया गया। मुख्य अतिथि के द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के पश्चात विद्यालय का समारोह शुरू हुआ। छात्र प्रतिनिधि अश्विन अग्रवाल (कक्षा बारह) ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया।
विद्यालय गीत के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रारम्भ हुए।
“पावर ऑफ म्यूजिक ” शीर्षक के अन्तर्गत
स्कूल बैंड द्वारा आर्केस्ट्रा के तहत विभिन्न वाद्य यंत्रों का प्रदर्शन करते हुए छात्रों ने स्वागत गीत के साथ गणेश स्तुति, सरस्वती वंदना पेश किया । “पावर ऑफ म्यूजिक” पर आधारित अंग्रेजी नृत्य नाटिका का मंचन हुआ । सम्पूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रम संगीत की महत्ता को केंद्र में रखकर रचा गया था।
जिसका सार था कि संगीत कण-कण में विद्यमान है। ये हास्य में, रूदन में, प्रकृति में, ग्रहों-नक्षत्रों में , पर्यावरण व सौरमण्डल सभी जगह पर है। कोई भी संगीत से अछूता नहीं रह सकता है। विद्यार्थी जीवन में संगीत की महिमा से कोई इंकार नहीं कर सकता है। संगीत में वो शक्ति है जो मन को विभिन्न परिस्थितियों में बाँध सकती है।
यह एक ऐसा गायन व नृत्य से भरपूर ड्रामा था जिसमें कल्पना के आधार पर आकाशीय पिंडों पर संगीत का प्रभाव दर्शाया गया।
सम्पूर्ण कार्यक्रम रोचक व मनोरंजक था जिसने दर्शकों को अंत तक बाँधे रखा।
विद्यालय के छात्रों ने खेल मैदान में भी बखूबी अपने कौशल दिखाए। विगत अनेक वर्षों से विद्यालय में घुड़सवारी आकर्षण का केंद्र रही है। इस वर्ष भी घुड़सवारी का विशेष आकर्षण रहा। सलामी देना, आठ का आकार बनाना ,एक तरफ से घोडो़ं को साधना, पीठ पर खड़े होना, झंडा उठाना, एक-दूसरे को काटना आदि अनेक करतब घुड़सवारों ने दिखाए। इस वर्ष घुड़सवारी का नेतृत्व कक्षा बारह के छात्र विजय सिंह ने किया । उसके साथ अन्य घुड़सवार थे राहुल राज, हर्षित साही,यतिन जमनाल, आकर्ष सिंह एवं अर्पित युसुफ । ताइक्वांडो व जिम्नास्टिक को भी दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया गया। बच्चों ने छत्रपति शिवाजी के युद्ध कला पर आधारित महाराष्ट्र के लोकनृत्य लैजियम की भी प्रस्तुति दी।
इस समारोह में रानीखेत के विभिन्न गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे। अशोक हाॅल गर्ल्स रेजीडेंशियल स्कूल मजखाली के प्रधानाचार्य श्री हेमन्त राय, श्रीमती सुबुही अली, विभिन्न स्कूलों के प्रधानाचार्य, शिक्षक, गणमान्य व्यक्ति, आदि ने समारोह में शिरकत की।
अधिकतर विद्यार्थियों के अभिभावक भी समारोह में पहुँचे। अपने नौनिहालों को मंच पर प्रस्तुति देते देख अभिभावकों ने प्रसन्नता जाहिर की।
वरिष्ठ प्रधानाचार्य मोहम्मद आसिम अली ने वार्षिक प्रतिवेदन में विद्यालय की विभिन्न उपलब्धियों का ब्यौरा प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि आगामी वर्षों में विद्यालय को नए आयामों तक पहुँचाना ही उनका ध्येय है।
मुख्य अतिथि द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट स्थान प्राप्त छात्र-छात्राओं को मेडल व प्रमाण पत्र वितरित किए गए।
समारोह के अंत में मुख्य अतिथि ने अपने संक्षिप्त संबोधन में कहा कि सभी कार्यक्रम शानदार थे। जिस प्रकार का वातावरण इस विद्यालय में छात्रों को उपलब्ध कराया जा रहा है वह छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए अनिवार्य है।
अंत में शुभम् अग्रवाल ने सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने रानीखेत नगर में सघन जनसंपर्क कर कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने की अपील की