गज़ब! चल रही थी अंतिम संस्कार की तैयारी… परिजनों ने 102वर्षीय वृद्धा को हिलाया ..तो खोल दी आंखें

ख़बर शेयर करें -

सोचो, किसी घर में किसी सदस्य के मरने के बाद पूरा परिवार शोक में डूबा हुआ हो और अंतिम यात्रा की तैयारी के वक्त वह जिंदा हो जाए तो उस घर – परिवार की हालत क्या होगी! परिवार में अचानक कितनी खुशी होगी यह तो सब जानते हैं।

ऎसा ही एक मामला उत्तराखंड के रूड़की से सामने आया है।यहां अंतिम संस्कार के लिए ले जाते समय एक बुजुर्ग महिला अचानक जिंदा हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  वोट डालने हल्द्वानी जा रहे चिकित्सक की कार अनियंत्रित होकर खाई में गिरी, हुई मौत,

दरअसल रुड़की के नारसन कस्बे में रहने वाले विनोद की 102 वर्षीय मां ज्ञान देवी पिछले कुछ समय से बीमार चल रही थींं। मंगलवार को अचानक वो बेहोश हो गईं। इसके बाद परिजनों ने डाक्टर को बुलाया और जांच कराई।

यह भी पढ़ें 👉  भतरौंजखान- भिकियासैंण मार्ग में दर्दनाक हादसा,बाइक सवार युवक की मौत,एक घायल

डाक्टर ने जांच के बाद महिला को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजनों में शोक की लहर दौड़ गई। परिजनों ने रिश्तेदारों को सूचित किया और अंतिम संस्कार की तैयारी करने लगे। इसी बीच ज्ञान देवी के शरीर में हल्की हलचल महसूस हुई। परिजनों ने ज्ञान देवी को पास जाकर हिलाया तो उन्होंने आंखे खोल दीं।

यह भी पढ़ें 👉  इस बार उत्तराखंड में 2019 की‌ तुलना में कम हुआ मतदान,पूरे प्रदेश में 53.56मतदान, उदासीन दिखा मतदाता

इसके बाद सभी हैरानी भरी खुशी से भर गए। जहां अभी तक मातम पसरा था वहां खुशियां लौट आईं। बताया जा रहा है कि 102 साल की ज्ञान देवी पूरे इलाके में सबसे बुजुर्ग महिला हैं।