अंकिता हत्याकांड में एक साल बाद भी वीवीआईपी का नाम उजागर न होने से महिला कांग्रेस का धामी सरकार के खिलाफ फूटा गुस्सा

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत – चर्चित अंकिता हत्याकांड के एक‌ वर्ष बीत जाने के बाद ‌भी वीवीआईपी का नाम उजागर न होने से ख़फ़ा महिला कांग्रेस ने यहां सीएम धामी से इस प्रकरण का खुलासा न होने को लेकर जवाब मांगा।

उत्तराखंड प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष श्रीमती ज्योति रौतेला के निर्देश पर उत्तराखंड की धामी सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए रानीखेत में महिला कांग्रेस ने अंकिता हत्याकांड पर जवाब मांगा और कहा कि सीएम को अपनी इस नाकामी पर अविलम्ब इस्तीफा देना चाहिए। महिला कांग्रेस ने आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेकने का आह्वान किया।

यह भी पढ़ें 👉  राजकीय इंटर कॉलेज सिलोर महादेव में विद्यालय प्रबंधन समिति के‌ राजेन्द्र सिंह नेगी और पीटीए के दिनेश चंद्र आर्य अध्यक्ष निर्वाचित

यहां गांधी चौक में आयोजित कार्यक्रम में महिला कांग्रेस ने अंकिता भंडारी केस में वीवीआईपी के नाम का खुलासा न होने पर नाराजगी जताने के अलावा उत्तराखंड में बढ़ती बेरोजगारी,अग्निवीर योजना, मणिपुर हिंसा जैसे मुद्दों पर भी भाजपा सरकारों को विफल बताते हुए कहा कि भाजपा सरकार हमेशा ही समस्याओं से निपटने के बजाय दूसरे अकारथ मुद्दे उठाकर जनता का ध्यान भटकाती रही है। कार्यक्रम की अगुवाई महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष गीता पवार ने की।

यह भी पढ़ें 👉  पूर्व मंत्री गोविंद सिंह माहरा की‌103वीं जयंती पर‌ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने चिकित्सालय में मरीजों को फल‌ वितरण किया

कार्यक्रम में पी०सी०सी० सदस्य कैलाश पांडेय, नगर अध्यक्ष उमेश भट्ट, पूर्व ब्लॉक प्रमुख रचना रावत, पूर्व जिलाध्यक्ष महेश आर्या, ग्राम प्रधान दुभणा नीलम आर्या, कॉर्डिनेटर कुलदीप कुमार, कार्यकारी ब्लॉक हेमंत रौतेला, कार्यकारी अध्यक्ष नगर पंकज जोशी, विश्व विजय सिंह माहरा आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  जी.जी.आई.सी. द्वाराहाट में किया गया पी. टी.ए. एवं एस.एम. सी. का गठन