केंद्रीय विद्यालय रानीखेत में आयोजित हुआ ‘दादा-दादी,नाना-नानी दिवस का आयोजन, नन्हें मुन्नों ने पेश‌ किए मनमोहक कार्यक्रम

ख़बर शेयर करें -

दादा-दादी , नाना- नानी परिवार का सबसे बड़ा खजाना हैं, एक प्यार भरी विरासत के संस्थापक, सबसे
बडे़ कहानीकार, परंपराओं के रखवाले। दादा-दादी,नाना- नानी परिवार की मजबूत नींव होते हैं।“
दादा-दादी अपने विशेष प्यार और देखभाल से परिवार को दिल के करीब रखते हैं।

ऐसे में उन्हें सम्मानित करने के लिए हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी केंद्रीय विद्यालय रानीखेत के प्रांगण में 26 नवंबर 2022 को दादा-दादी , नाना- नानी दिवस का आयोजन किया गया।
समारोह की शुरुआत विद्यालय के प्राचार्य सुनील कुमार जोशी के कर- कमलों द्वारा दीप प्रज्वलन के साथ हुई। कक्षा एक और दो के छात्राओं ने दादा-दादी के स्वागत में स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया। इसके बाद विद्यालय के नन्हें – मुन्ने बच्चों की ओर से कई मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम
प्रस्तुत किए गए जिनमें पहाड़ी लोक नृत्य, पोम- पोम नृत्य और लघु नाटिका ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर
दिया।
इसके बाद मेहमानों के मनोरंजन के लिए कई खेल कार्यक्रम आयोजित किये गये। जिसमें सभी दादा-
दादी ने बड़े उत्साह के साथ भाग लिया। खेल के विजेताओं को प्राचार्य द्वारा उपहारों के साथ बधाई व
शुभकामनाएं दी गई, जिससे उनकी आँखों में चमक आ गई।
उपयुक्त संगीत और उत्साही दादा-दादी, पोते- पोती के संयोजन ने सभी उपस्थित लोगों में जोश भर दिया।
इसके बाद प्राचार्य के संबोधन ने सभी को प्रभावित किया।

यह भी पढ़ें 👉  स्वर्गपुरी पांडवखोली आश्रम में सीज़न का पहला हिमपात, पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश, हिमपात के साथ कडा़के की ठंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *