छावनी से मुक्ति हेतु धरना 75वें दिन जारी,समिति ने नगर हित में किसी भी तरह की अनर्गल बयानबाजी से बचने का सियासी दलों से किया अनुरोध

ख़बर शेयर करें -


रानीखेत – छावनी परिषद से मुक्ति और नगर पालिका में शामिल करने की मांग पर धरना-प्रदर्शन आज 75वें दिन भी बदस्तूर जारी रहा।धरना स्थल से संघर्ष समिति द्वारा जारी वक्तव्य में राजनीतिक दलों द्वारा की जा रही ऐसी बयानबाजी पर‌ लगाम रखने का अनुरोध किया जिससे नगर पालिका आंदोलन और रानीखेत विकास संघर्ष समिति के प्रयासों को नुक़सान पहुंचता है।

आज धरना स्थल पर वक्ताओं ने कहा कि रानीखेत नगर पालिका निर्माण हेतु संघर्ष के लिए गठित रानीखेत विकास संघर्ष समिति विगत दिवस राजनीतिक दलों के बयान पर स्तब्ध है। वक्ताओं ने कहा कि विकास समिति से जुड़े हुए सदस्य किसी पार्टी विशेष की आन्तरिक पार्टी कार्यक्रमों से सहमत नहीं हैं। कहा कि रानीखेत दिन-प्रतिदिन विकास कार्यों से महरूम होता जा रहा है। इसी चिन्ता के कारण शहरवासी एकजुट होकर संघर्ष कर सरकार से सहयोग का आग्रह रहे हैं। विकास समिति ऐसे किसी भी बयान की निन्दा करती है, जिससे विकास समिति के प्रयासों को नुकसान हो रहा है।

सदस्यों ने कहा कि समिति रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट , विधायक डाॅ0 प्रमोद नैनवाल , कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा का आभार व्यक्त करती है जो लगातार रानीखेत विकास संघर्ष समिति के सम्पर्क में हैं। कुछ लोग इस मुहिम को हल्के में ले रहे हैं। किन्तु समिति को पूर्ण विश्वास है कि समिति व शहरवासियों के प्रयास से नगरपालिका की मांग शीघ्र की सफल होने वाली है। जिसपर केन्द्र व प्रदेश सरकार गम्भीरता से विचार कर रही है। समिति सभी सहयोगियों का आभार व्यक्त करती है जो प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से इस मुहिम का समर्थन कर रहे हैं। समिति सभी राजनीतिक दलों के सहयोगी सदस्यों का आभार व्यक्त करती है, साथ ही किसी भी राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों पर गलत बयानबाजी का खण्डन करती है। रानीखेत विकास संघर्ष समिति रानीखेत के विकास के लिए समर्पित है व सभी के सम्मान का संरक्षण करती है। शहर के विकास के प्रति समाधान के लिए लोग निरन्तर समिति से जुड़ते जा रहे हैं। समिति सभी राजनीतिक दलों से आग्रह करती है कि रानीखेत विकास संघर्ष समिति को अवश्य विश्वास में लिया जाय।