कांग्रेस का आरोप : विधायक प्रमोद नैनवाल नगर पालिका सहित तमाम लम्बित कार्यों पर ‘हवा वार्ता’ कर लें रहे हवाई श्रेय

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत– कांग्रेस ताड़ीखेत ब्लॉक एवं नगर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने क्षेत्रीय विधायक प्रमोद नैनवाल पर सिविल एरिया को‌ नगर पालिका में शामिल कराने सहित रानीखेत की घोषणाओं पर हवाबाजी करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि विधायक बिना कुछ किए पत्रकार वार्ता के नाम पर हवा वार्ता कर रहे हैं।

कांग्रेस ने यहां जारी वक्तव्य में कहा कि हाल में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा द्वारा रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट को अनुरोध पत्र भेजकर रानीखेत के सिविल एरिया को समीपवर्ती नगरपालिका रानीखेत-चिलियानौला में समायोजित करने की पहल की थी, जिसे क्षेत्रीय विधायक पचा नहीं पाए और इस मुद्दे पर श्रेय लेने के लिए तीन माह पूर्व केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से हुई कथित बैठक को गिनाते- दिखाते फिर रहे हैं। जबकि इन 3 माह में कोई भी सकारात्मक पहल नगर पालिका को लेकर रानीखेत के नागरिकों को नहीं दिखी। धामी सरकार द्वारा भी पूर्व में तीन कैबिनेट बैंठकों में एक बार भी रानीखेत की नगरपालिका का प्रस्ताव नहीं रखा गया है, जिससे हवा वार्ताओं के माध्यम से श्रेय लेने की झूठी कोशिशें स्पष्ट दिख रहीं हैं।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत में केआरसी के सौजन्य से प्रतियोगी परीक्षाओं की काउंसलिंग के लिए हुआ कार्यक्रम , संयुक्त मजिस्ट्रेट ने दी विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी जानकारियां

व्यक्तव्य में कहा गया है कि कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट को अनुरोध पत्र इसलिए लिखा गया क्योंकि वे संबंधित मंत्रालय में मंत्री हैं और रानीखेत छावनी नागरिकों की समस्याओं से यहां के रहवासी होने के कारण भिज्ञ हैं। श्री भट्ट ही इस मांग के समाधान का सही रास्ता दे सकते हैं लेकिन विधायक श्रेय लेने को लेकर इतने उतावले हैं कि उन्हें अपनी ही पार्टी के क्षेत्रीय कद्दावर नेता को भी सहन नहीं कर पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत में केआरसी के सौजन्य से प्रतियोगी परीक्षाओं की काउंसलिंग के लिए हुआ कार्यक्रम , संयुक्त मजिस्ट्रेट ने दी विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी जानकारियां

कार्यकर्ताओं ने कहा कि विधायक में श्रेय लेने का ऐसा उतावलापन है कि कहीं से भी कोई काम होता देखते हैं तो श्रेय लेने को आमादा रहते हैं जिसका जीता जागता उद्हारण रानीखेत के नागरिकों द्वारा जिलाधिकारी को दिये रानीखेत के समस्याओं के ज्ञापन पर जिलाधिकारी ने जो प्रयास किये वो भी आज धरातल पर नहीं उतर पाए। आज जिलाधिकारी द्वारा जो प्रयास गोल्फ कोर्स को आम नागरिकों व पर्यटकों के लिए खोलने, एन0सी0सी0 को सिविल प्रशासन के सुपुर्द करने व चौबटिया-नागपानी मोटर मार्ग को आमजन के लिए खोलने का जो सकारात्मक प्रयास किया था वही भी राज्य सरकार के दबाव में तीनों कार्य ठंडे बस्ते में डाल दिये गये व यहाँ तक श्रेय लेने का ऐसा नशा रहा कि जिलाधिकारी का तक स्थानान्तरण कर दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत में केआरसी के सौजन्य से प्रतियोगी परीक्षाओं की काउंसलिंग के लिए हुआ कार्यक्रम , संयुक्त मजिस्ट्रेट ने दी विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी जानकारियां


बैठक में नगर अध्यक्ष उमेश भट्ट, ब्लाॅक प्रमुख हीरा सिंह रावत, महिला जिलाध्यक्ष गीता पवार, महिला नगर अध्यक्ष नेहा साह माहरा, ब्लाॅक अध्यक्ष गोपाल सिंह देव, पूर्व ब्लाॅक प्रमुख रचना रावत, नगर उपाध्यक्ष कुलदीप कुमार, पूर्व जिलाध्यक्ष महेश आर्या, यूथ विधानसभा अध्यक्ष अंकिता पंत आदि लोग उपस्थित रहे।