रानीखेत के वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता रोजी अली खान का निधन, विभिन्न संगठनों ने व्यक्त किया गहरा शोक

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: शहर के वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता रोजी अली खान (उम्र 82 वर्ष) का लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया। उनका सुपुर्दे ख़ाक आज स्थानीय कब्रिस्तान में दोपहर बाद किया जायेगा। वे अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ गए।

ज्ञातव्य है कि रोजी अली खान के दिल में देश प्रेम की भावना कूट-कूट कर भरी थी, वर्षों तक ‘एकला चलो’ की तर्ज पर‌ यहां गाँधी चौक में वे स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस , गाँधी जयंती आदि राष्ट्रीय पर्व बड़ी पुरजोशी से मनाया करते थे। इन अवसरों पर वे पार्कों को दिल से सजाने के साथ ही बच्चों की प्रतियोगिताएं आयोजित करते थे। गांधी चौक के श्याम पट सहित विभिन्न स्थानों की दीवारों पर चॉक से सदविचार और सूचनाएं लिखना रोजी अली खान की दिनचर्या में शामिल था।वे नैतिक विचार बच्चों तक पहुंचाने के लिए स्थानीय व दूरदराज के विभिन्न स्कूलों का साइकिल से भ्रमण करते थे।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल

उनके निधन पर विभिन्न संगठनों ने गहरा शोक व्यक्त किया है।शोक व्यक्त करने वालों में कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा, ब्लॉक प्रमुख हीरा सिंह रावत, पूर्व प्रमुख रचना रावत, पी०सी०सी० सदस्यअध्यक्ष कैलाश पांडेय, नगर अध्यक्ष उमेश भट्ट, अगस्त लाल साह, अतुल जोशी, भगवंत नेगी, महासचिव संदीप गोयल, महिला उपाध्यक्ष नेहा साह माहरा, उपाध्यक्ष दीपक पंत, उपसचिव विनीत चौरसिया, मीडिया प्रभारी सोनू सिद्दकी आदि शामिल रहे।इधर छावनी परिषद के नामित सदस्य मोहन नेगी, पूर्व सभासद संजय पंत ,भाजपा महिला मोर्चा की पूर्व प्रदेश मीडिया सह प्रभारी विमला रावत, व्यापार मंडल‌ अध्यक्ष मनीष चौधरी, भाजपा नगर महामंत्री कवित्त भंडारी, पू्र्व नगर अध्यक्ष राजेंद्र जसवाल, मीडिया प्रभारी रामेश्वर गोयल ने भी रोज़ी अली खान के निधन पर गहरा शोक जताया है।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल