रानीखेत में 10 से 12मई तक‌ होगा ‘किताब कौतिक’ का आयोजन, स्टॉल्स में सजी साठ हजार पुस्तकें पुस्तक प्रेमियों को लुभाएंगी, सांस्कृतिक, साहित्यिक कार्यक्रमों की रहेगी धूम

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत – पर्यटन नगरी रानीखेत में आगामी मई की 10,11व 12 तारीख़ को साहित्य , शिक्षा,पर्यटन और संस्कृति का उत्सव ‘किताब कौतिक’ आयोजित होने जा रहा है। जिसमें साठ प्रकाशकों की करीब सत्तर हजार पुस्तकें पुस्तक प्रेमियों के आकर्षण और खरीद के केंद्र में रहेंगी इसके अलावा साहित्यिक विमर्श,कवि सम्मेलन और सांस्कृतिक संध्या सहित कई रोचक कार्यक्रम होंगे।
इस तीन दिवसीय आयोजन को आकर्षक और भव्य बनाने के लिए छावनी परिषद बोर्ड कक्ष में आयोजित बैठक में कार्यक्रम की रूपरेखा पर चर्चा हुई और तीन दिनी कार्यक्रम निर्धारित किया गया। तय हुआ कि दस मई को रानीखेत और आस-पास के विद्यालयों में विभिन्न क्षेत्र के विशेषज्ञों द्वारा कैरियर काउंसलिंग की जाएगी।11 मई को मुख्य आयोजन का शुभारंभ छावनी परिषद बहूद्देशीय सभागार में होगा। जिसमें देश के करीब साठ पुस्तक प्रकाशकों के स्टाल्स लगेंगे। साहित्यिक परिचर्चा, प्रसिद्ध लेखकों से सीधी बात, स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम, बच्चों के लिए विज्ञान कोना,नेचर वाक, आमंत्रित कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक संध्या, हस्त-शिल्प स्टाल्स, 12मई को साहित्यिक सत्र में रानीखेत के गौरवशाली इतिहास और भविष्य पर चर्चा, कुमाऊं रेजिमेंट और सैन्य परम्परा पर चर्चा सहित अनेक समसामयिक विषयों पर‌ विमर्श होगा;इसके अतिरिक्त स्कूली बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रम, कवि सम्मेलन और‌ की रोचक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 5से नौ मई तक बाल प्रहरी के संपादक और साहित्यकार उदय किरौला द्वारा बच्चों के लिए कार्यशाला आयोजित की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने रानीखेत नगर में सघन जनसंपर्क कर कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने की अपील की

कार्यक्रम में स्थानीय साहित्यकारों को सम्मानित किया जाएगा। रानीखेत किताब कौतिक में प्रसिद्ध लेखक व साहित्यकारों को आमंत्रित किया जा रहा है।
बैठक में क्रियेटिव उत्तराखंड के हेम पंत ने बताया कि बच्चों और युवाओं में पढ़ने लिखने की संस्कृति विकसित करने के उद्देश्य से उत्तराखंड के विभिन्न स्थानों में किताब कौतिक अभियान चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में एक बार फिर गूंजा राम का नाम , श्रद्धा व प्रेम से मनाया गया राम नवमी का पर्व और जी॰ डी॰ बिरला जयंती

रानीखेत में आयोजन के लिए वरिष्ठ पत्रकार,लेखक विमल सती को आयोजन समिति का अध्यक्ष बनाया गया। इसके अलावा छावनी परिषद सीईओ कुनाल रोहिला और से.नि लेफ्टिनेंट जनरल मोहन भंडारी को संरक्षक बनाया गया है। बैठक में हेम पंत,दयाल पांडेय राजेंद्र प्रसाद पंत, मंजू आर साह, संजय पंत, गौरव तिवारी,गौरव भट्ट, आशुतोष पाण्डे, नरेश डोरबियाल,हरीश बिष्ट, सारिका वर्मा, आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में एक बार फिर गूंजा राम का नाम , श्रद्धा व प्रेम से मनाया गया राम नवमी का पर्व और जी॰ डी॰ बिरला जयंती

ध्यातव्य है कि टनकपुर, बैजनाथ,चंपावत, पिथौरागढ़, द्वाराहाट, भीमताल, नानकमत्ता, हल्द्वानी के बाद अब रानीखेत में नवें किताब कौतिक के रूप में किताबों का यह अनूठा मेला लगने जा‌ रहा है। रानीखेत किताब कौतिक आयोजन समिति अध्यक्ष विमल सती ने रानीखेत व आस-पास के रहवासियों से रानीखेत की विशिष्ट पहचान को सुदृढ़ करने के लिए रचनाशीलता के इस अभियान में सहभागी बनने की अपील की है।