धूमधाम से मनाया गया नेशनल इंटर कॉलेज का वार्षिकोत्सव,मंच पर साकार हो उठीं देश की विविध संस्कृति एवं परंपराएं

ख़बर शेयर करें -


रानीखेत– आज नेशनल इंटर कॉलेज का वार्षिकोत्सव धूमधाम से मनाया गया। छात्र-छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मोहक प्रस्तुति से समा बांधा। मंच पर उत्तराखंड के साथ ही देश के विविध प्रांतों की साझा संस्कृति का दीदार मंत्रमुग्ध कर गया। बच्चों ने लोक संस्कृति व हिमालय की गौरवशाली परंपरा को जीवंत किया। साथ ही गुरु शिष्य परंपरा को जीवंत रखने का संदेश भी दिया।

कार्यक्रम में शिक्षा व सामाजिक साक्षरता आदि क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वालों को सम्मानित भी किया गया। वहीं 45मेधावी छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति के रूप में पुरस्कृत भी किया गया।
नेशनल इंटर कालेज के सभागार में बुधवार को वार्षिकोत्सव का श्रीगणेश मुख्य अतिथि विधायक डा. प्रमोद नैनवाल तथा प्रधानाचार्य श्री सुनील जोशी ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। अपने संबोधन में विधायक डॉ. नैनवाल ने केंद्र की मोदी सरकार, उत्तराखंड की धामी सरकार और अपने‌ विकास कार्यों और उपलब्धियों का जिक्र किया। साथ ही जी -20 के भारत में आयोजन को देश को गौरवान्वित कराने वाली उपलब्धि बताया। कहां कि मोदी जी के नेतृत्व में भारत विश्वगुरू बनने की ओर अग्रसर है। दुनिया झुकती है झुकाने वाला चाहिए ये मोदी ने कर दिखाया। जिनका देश गुलाम रहा वह भी आज भारत आकर कह रहे हैं हमें भारत से प्रेम है।ये मोदी जी की शक्ति है। विधायक ने विधायक निधि से विद्यालय को दस‌ लाख रुपया दो किस्तों में देने की घोषणा भी की।

प्रधानाचार्य श्री सुनील जोशी ने वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की। विद्यालय की प्रगति के साथ शैक्षिणक माहौल में नए बदलाव तथा बोर्ड परीक्षा में विद्यार्थियों के प्रदर्शन को उपलब्धियों से भरा बताया। प्रधानाचार्य ने विद्यालयी विकास से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदुओं से मुख्य अतिथि विधायक डा. प्रमोद नैनवाल को अवगत कराया। साथ ही विद्यालय की तरक्की तथा ढांचागत सुविधाओं के लिए विधायक निधि से बजट उपलब्ध कराने का आग्रह भी किया। विधायक डा. प्रमोद नैनवाल ने प्रधानाचार्य श्री सुनील जोशी के प्रस्ताव पर विद्यालय के लिए दस‌लाख की घोषणा करते हुए भविष्य में हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया।

संचालन करते हुए शिक्षिका श्रीमती विमला रावत ने मुख्य अतिथि, प्रबंधन मंडल, गुरुजनों व अभिभावकों का आभार जताते हुए सुंदर कार्यक्रमों की प्रस्तुति के लिए विद्यार्थियों का उत्साह बढ़ाया। कार्यक्रम में प्रबंधक मनीष भैसोड़ा, प्रबंधन समिति अध्यक्ष हर्षवर्धन पंत, उपाध्यक्ष नवल पांडे, वरिष्ठ प्रवक्ता श्याम सिंह अधिकारी, वरिष्ठ प्रवक्ता रघुवर नेगी, श्रीमती यशोदा खुल्बे, श्रीमती शशि टम्टा, किरण गोस्वामी, ज्योति, माया आर्या, दिनेश कोहली, निर्मल जोशी, मनोज बिष्ट, शादाब सिद्दीकी, कुशाल सिंह बिष्ट, गोकुल जोशी, श्रीमती रंजना चंद्र, श्रीमती किरण जोशी, चंदन मेहरा, प्रेमा बेलवाल

रंगकर्मी विमल सती, लोक चेतना मंच के जोगेन्द्र बिष्ट छावनी सदस्य मोहन नेगी, मीडिया प्रभारी रामेश्वर गोयल, दीप भगत,उमेश पंत विमल भट्ट ,सरिता पांडे,तनुजा शाह, रेखा आर्य, पुष्पा तिवारी, भावना बेलवाल, मनीष सद्भावना , राम सिंह, ललित महरा, मुकेश पांडे, रोहित शर्मा, विपिन भार्गव, दर्शन बिष्ट, अनिल वर्मा,अगस्त लाल साह,मुकेश साह, खजान पांडे, डॉ चारू पंत,भुवन पपनै,किरन साह‌, रविमोहन, आदि मौजूद रहे।


कार्यक्रम में इन्हें मिला ये पुरस्कार
= श्री बिंद्रा छात्रवृत्ति: इंटरमीडिएट में 70 प्रतिशत से अधिक अंक अर्जित करने वाले ….छात्र-छात्राओं को 9000 रुपये की धनराशि।
= स्व. मेजर बालकृष्ण पंत स्मृति पुरस्कार: …… को ब्रिगेडियर मुकुल राज पंत ने प्रदान किया।
= स्व. हेमलता पंत स्मृति पुरस्कार: ….
= स्व. रामदत्त तिवारी स्मृति पुरस्कार: मानविकी वर्ग में उच्चतम अंक प्राप्त करने पर …… को पुरस्कार स्वरूप 2500 रुपये भेंट किए गए।
= श्री सोमेश जोशी स्मृति छात्रवृत्ति: ….
= स्व. प्रकाश चंद्र साह स्मृति छात्रवृत्ति: …. को 1200 रुपये की राशि भेंट की गई।
= पूर्व प्रधानाचार्य श्री हरी सिंह कड़ाकोटी की ओर से रसायन विज्ञान में उच्चतम अंक प्राप्त करने वाले …. को प्रति विद्यार्थी 2500 रुपये के हिसाब से …. की राशि भेंट की गई।
= सेवानिवृत्त प्रवक्ता चूणामणि हर्बोला जी की ओर से ….
= विद्यालय के भूतपूर्व छात्र श्री संजय बिष्ट की ओर से अपने पिता स्व. सोबन सिंह बिष्ट जी की स्मृति में …. को भेंट की गई।
= रानीखेत के प्रतिष्ठित समाजसेवी व उनकी धर्मपत्नी श्रीमती एवं श्री डीएन बड़ोला की ओर से हाईस्कूल में 65 प्रतिशत से अधिक अंक अर्जित करने वाले ….. मेधावी बच्चों को कुल 44000 रुपये पुरस्कार स्वरूप भेंट किए गए।