योग की कक्षाओं से “स्वस्थ नारी सशक्त समाज” का संदेश ….बदलती बिगडती जीवनशैली में बढ़ते रोगों से छुटकारा पाने को महिलाओं को योग से जुड़ना सुखद: विमला रावत

ख़बर शेयर करें -

….पतंजलि योग समिति नगर के बाद अब गांवों में खोलेगी कक्षाएं,

…..महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने को चलेगी मुहिम

….आरोग्य सभा में तय की गई भावी रणनीति, वर्तमान में चार कक्षाओं का हो रहा है संचालन

रानीखेत:आधुनिकीकरण के साथ बदलती जीवनशैली तथा मानसिक तनाव जनित हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप आदि बीमारियां तेजी से मानव शरीर विशेष रूप से महिलाओं को भी घेरने लगी हैं। बढ़ते रोग व तनाव से मुक्त रख महिला सशक्तिकरण की सोच को साकार करने के मकसद से अब योग की कक्षाओं से स्वस्थ समाज का संदेश महिलाओं की जीवनशैली में नया बदलाव लाने लगा है। पतंजलि योग समिति की अनूठी पहल पहाड़ में रंग लाने लगी है।

यह भी पढ़ें 👉  पी जी कॉलेज रानीखेत में 12 दिवसीय ई.डी.पी. कैंप के द्वितीय दिन विशेषज्ञों ने दिए विस्तृत व्याख्यान

रानीखेत में महिलाओं को स्वस्थ व स्वावलंबी बनाने को संचालित चार कक्षाओं में बढ़ती संख्या अच्छे संकेत दे रही है। अब जल्द ही योग का प्रचार प्रसार नगर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक कर उनके लिए नई कक्षाएं शुरू की जाएंगी। विशेष प्रशिक्षण देकर योग प्रशिक्षक तैयार की जाएंगी जो महिलाओं को ट्रेंड करेंगी।
कुम्हार मोहल्ला में पतंजलि योग समिति की योग कक्षाओं के बाद आरोग्य सभा का आयोजन किया गया। शुभारंभ मुख्य अतिथि प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य लीला संगेला, तहसील प्रभारी सुनीता डाबर व जिला महामंत्री विमला रावत ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। प्रदेश कार्यकािरणी सदस्य लीला ने कहा कि वर्तमान में संचालित चार स्थायी कक्षाएं स्वस्थ नारी सशक्त समाज की सोच को विस्तार देने के लिए मील का पत्थर साबित होगी। तहसील प्रभारी सुनीता ने कहा कि वर्तमान बिगड़ती जीवनशैली में योग तनाव के साथ बढ़ते रोगों से छुटकारा पाने में कारगर है। अन्य महिलाओं को भी योग के प्रति जागरूक कर उन्हें कक्षाओं से जोड़ा जाएगा।
जिला महामंत्री विमला रावत ने कहा कि वैदिक संस्कृति योग को गांव गांव तक पहुंचाने के लिए समिति की ओर से कार्यशालाएं की जाएंगी। इसका उद्देश्य नगरीय के साथ ग्रामीण महिलाओं को भी योग से जोड़ उन्हें स्वास्थ्य के प्रति सजग करना है। सभा के अंत में मुख्य अतिथि लीला संगेला के निर्देशन में कार्यकारिणी का विस्तार किया गया। इस अवसर पर अनुप्रिया, बबीता, तानिया, याेगिता, अनु सोनकर, शोभा देवी, मीना देवी, तपोशुम, शोभा, मीनाक्षी, लक्ष्मी आदि उपस्थित रहीं।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत विकास संघर्ष समिति के सांकेतिक धरने को एक साल होने में पखवाड़ा भर शेष, लेकिन हुक्मरानों की अनदेखी हैरान करने वाली