केंद्रीय राज्य मंत्री ने ली विभागीय अधिकारियों की बैठक,कहा-आपदा कार्यों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी

ख़बर शेयर करें -

नैनीताल 25 अक्टूबर केन्द्रीय रक्षा एंव पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने सोमवार को नैनीताल क्लब में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेते हुए कहा कि अधिकारी आपदा कार्यो को संवेदनशीलता से करते हुए गति लाये। उन्होंनेे कहा जिन आपदा क्षेत्रों में गांवों में विद्युत, पानी, सडक व संचार व्यवस्थाएं बाधित है उन्हे भी प्राथमिकता से सुचारू करें।

उन्होेंने कहा कि आपदा कार्यो में लापरवाही कतई बर्दाश्त नही की जायेगी। लापरवाही करने पर गम्भीरता से लिया जायेगा। उन्होने अधिकारियों से कहा कि वे स्वयं क्षेत्रों में जाकर आपदा कार्यो में गति लाये साथ ही उन्होने अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों संयमित होकर जनता से वार्ता करने के भी निर्देश दिये।

बैठक में जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया कि जनपद में सभी राष्ट्रीय राजमार्ग खोल दिये गये है राज्य सडक मार्ग चार मुख्य जिला सडक मार्ग तीन बंद है जिन पर कार्य प्रगति पर है इसी आपदा दौरान 484 ग्रामीण आन्तरिक मार्ग बंद हुये थे। 401 मार्ग खोल दिये गये है जबकि 83 मार्ग बाधित है जिनको शीघ्र खोल दिया जायेगा। उन्होने बताया कि जपनद में लगभग 2.60 करोड की राहत धनराशि वितरित कर दी गई है। उन्होने बताया कि जनपद में आपदा से 34 जनहानि हुई थी जिसमें से 31 शव बरामत कर लिये गये है बिहार के मृतकों के शव उनके घर भेज दिये गये है जिस पर रक्षा राज्य मंत्री ने त्वरित आपदा कार्य एंव तत्काल बिहार निवासियों के शवो को उनके घर भजने के लिए जिला प्रशासन को बधाई दी व आपदा त्वरित कार्यो की सरहाना की। 

गौरतलब है कि रक्षा मंत्री श्री भट्ट ने रविवार को भवाली, खैरना, बेतालघाट होते हुये कोटाबाग आपदा क्षेत्रों का स्थलीय भम्रण किया था भ्रमण दौरान उन्होने आपदा राहत कार्यो जायजा लेते हुए जनता से भी वार्ता की। उन्होने विद्युत, पानी, सडक व स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे त्वरित कार्यो को पूर्ण  करें तांकि जन जीवन सामान्य हो सके। उन्होने आपदा क्षेत्रों एंव जल भराव क्षेत्रों में दवा छिड़काव कराने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी व अधिशासी अधिकारी नगर निकायों को दिये। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ. संदीप तिवारी, प्रभागीय वनाधिकारी टीआर बिजूलाल, अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी, संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन, मुख्य अभियंता जल निगम बीके पंत, महाप्रबन्धक जलसंस्थान डीके सिंह, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. भागीरथी जोशी, महाप्रबन्धक केएमवीएम एपी बाजपेयी सहित जन सम्पर्क अधिकारी मुख्यमंत्री दिनेश आर्य, मोहन पाल, सुरेश परिहार, गोपाल रावत, आनंद बिष्ट, मनोज जोशी, दयाकिशन पोखरिया, भावना पाण्डे, प्रकाश आर्य, शिवांशु जोशी, लक्ष्मण खाती, भानू पंत सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.