बिजनेस उत्तरायणी द्वारा आयोजित दूसरा राष्ट्रीय अधिवेशन ‘मंथन 2022’ सम्पन्न

ख़बर शेयर करें -

सी एम पपनैं

नई दिल्ली, (एनसीआर)। उत्तराखंड के प्रतिष्ठित उद्यमियो व व्यवसायियो द्वारा गठित, ‘बिजनिश उत्तरायणी’ द्वारा आयोजित, दूसरा राष्ट्रीय अधिवेशन ‘मंथन 2022’ का सफल आयोजन, 24 अप्रेल को, ‘मानव रचना शैक्षणिक संस्थान’ फरीदाबाद में, शिक्षा निदेशालय उप-निदेशक, दिल्ली सरकार, डॉ.राजेश्वरी कापड़ी, ओएनजीसी महाप्रबंधक दुर्गा सिंह भंडारी, मानव रचना अंतरराष्ट्रीय विद्यालय निर्देशक, श्रीमती संयोगिता शर्मा, दिल्ली उच्च न्यायालय व पटियाला हाउस कोर्ट वरिष्ठ अधिवक्ता क्रमशः संजय शर्मा दरमोड़ा व उर्मिला नौटियाल, फरीदाबाद उद्योग जगत से जुडे गोपाल उनियाल तथा युवा व्यवसायी यशपाल रावत, मुख्य व विशिष्ट अतिथियों के सानिध्य तथा उत्तराखंड व दिल्ली एनसीआर के दर्जनों उद्यमियों, व्यवसायियो व पत्रकारों की उपस्थिति मे, सम्पन्न हुआ।

दूसरे राष्ट्रीय अधिवेशन ‘मंथन 2022’ का विधिवत श्रीगणेश, मुख्य व विशिष्ट अतिथियों द्वारा, दीप प्रज्वलित कर किया गया। आयोजन मे उपस्थित उद्यमिता से जुडे प्रबुद्ध व्यवसायियों द्वारा, स्वयं का परिचय, अपने जुडे व्यवसाय के साथ दिया गया। इस अवसर पर ‘हिमालयन हाइट्स पत्रिका’ के नए अंक के विमोचन के साथ-साथ, बिजनेस उत्तरायणी, ‘बिजनेस डायरेक्टरी’ तथा वरिष्ठ लेखक श्री रमेश ध्यानी की पुस्तक का विमोचन भी, मुख्य व विशिष्ट अतिथियों के कर कमलो किया गया ।

ओएनजीसी महाप्रबंधक दुर्गा सिंह भंडारी द्वारा, बिजनेस उत्तरायणी आयोजक मंडल की ओर से, सभागार में उपस्थित सभी उद्यमियों, व्यवसायियो व पत्रकारों का अभिनंदन कर, अवगत कराया गया, मध्य हिमालय उत्तराखंड के पर्वतीय भू-भाग मे उद्यम विकास व व्यावसायिक संवर्धन हेतु 2007-2008 मे स्थापित ‘बिजनिश उत्तरायणी’ (हिमालयन रिसोरसेश एन्हासमैंट सोसाइटी) उत्तराखंड के प्रबुद्ध प्रवासी जनो द्वारा गठित, एक प्रतिबद्ध पंजीकृत संस्था है। सोसाइटी का, व्यवसायिक सरोकारो के विकास हेतु मिलकर काम करने। साथ जुड़, उत्तराखंड मे निवेश कर, संयुक्त उपक्रम स्थापित कर, नए आयाम स्थापित करने तथा रोजगार से संसाधनों के संवर्धन एवम पलायन के विरुद्ध एक सशक्त अभियान, जिसमे राष्ट्रीय सहभागिता का सामूहिक प्रयास, मुख्य उद्देश्य रहा है। सोसाइटी से जुडे, प्रबुद्ध सदस्यों तथा उत्तराखंड की प्रवासी संस्थाओ के सहयोग से हिमालयी उद्यम के संवर्धन व उत्थान हेतु सोसाइटी द्वारा विगत वर्ष 2021 तक के क्रियाकलापो, मिली सफलता तथा भविष्य की योजनाओ व कार्यक्रमों के बावत, अवगत कराया गया।

यह भी पढ़ें 👉  'आजादी का अमृत महोत्सव'के अंतर्गत छावनी इंटर‌ कालेज के‌ विद्यार्थियों ने नुक्कड़ नाटक के जरिए‌ दिया देश प्रेम का संदेश

दूसरे राष्ट्रीय अधिवेशन ‘मंथन 2022’ को सम्बोधित करने वाले, प्रमुख वक्ताओ मे, युवा सॉफ्टवेयर इंजीनियर अजय बिष्ट, शिक्षा उप-निदेशक, दिल्ली सरकार, डॉ.राजेश्वरी कापड़ी, आमोर आईनॉक्स लिमिटेड सीईओ रणधीर सिंह, लेफ्टिनेंट कर्नल शिवनंदन सिंह, दुबई से विशेष आमंत्रण पर पहुंचे, ‘प्रवासी भारतीय सम्मान 2019’ से सम्मानित गिरीश पंत, इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन वरिष्ठ अनुसंधान अधिकारी, डॉ.मनोज उप्रेती, वरिष्ठ उद्यमी, प्रबंध निदेशक, सिद्धि इंटरनेशनल, फरीदाबाद, गोपाल उनियाल, युवा व्यवसायी यशपाल रावत, वरिष्ठ अधिवक्ता संजय शर्मा दरमोड़ा, मानव रचना अंतर्राष्ट्रीय विद्यालय निर्देशिका श्रीमती संयोगिता शर्मा, युवा फिल्म निर्देशक राहुल रावत, प्यारे फाउंडेशन संस्थापक, डॉ.अंजली थपलियाल कौल, इंद्र सिंह बिष्ट, सुरेंद्र सिंह रावत इत्यादि, उद्यम विकास के क्षेत्र मे, प्रमुख रूप से जुडे प्रबुद्ध जनो द्वारा, अपने सम्बोधन मे, उद्यमिता के संवर्धन से जुड़े अपने अनुभवो, मिल रही सफलता व चुनोतियों के बावत अवगत कराया।

वक्ताओ द्वारा, डिजिटल मीडिया के फायदे और शक्तियों तथा उत्तराखंड में तकनीकी संबंधित संभावनाओं पर विशेष जोर देते हुए, स्वयं का अनुभव सांझा किया गया। विकसित आधुनिक तकनीक पर विस्तृत, प्रकाश डाला गया। उच्च तकनीक से उद्यमों को जोड़ कैसे सफलता प्राप्त की जा सकती है, के बावत अवगत कराया गया। उद्यमिता संबंधित शिक्षा पद्धति के महत्व पर प्रकाश डाला गया। हिमालयी क्षेत्रों में छोटे उद्यमियों को विकसित करने हेतु, सभी की सहभागिता पर मुख्य रूप से वक्ताओ द्वारा, बल दिया गया। युवाओं में देश के प्रति निष्ठा, उद्यमिता विकास और भारत का सशक्त नागरिक बनने हेतु, चल रही विभिन्न योजनाओं पर भी, वक्ताओ द्वारा, प्रकाश डाला गया।जैव प्रौद्योगिकी से संबंधित व्यवसाय तथा नवीकरणीय संसाधनों के प्रयोग से एक बेहतर हिमालय के प्रारूप का ताना-बाना बनाने की योजना पर प्रकाश डाला गया। उत्तराखंड में व्यापक उद्योग स्थापित करने और रोजगार व्यवस्था बना, पलायन रोकने की आवश्यकता पर वक्ताओ द्वारा, स-विस्तार विचार व्यक्त किए गए। आर्थिक प्रबंधन तथा अतिरिक्त आय स्रोत बनाने के विषय मे, व्यवसाय से जुड़े तथ्य प्रस्तुत किए गए। स्वरोजगार संबंधी प्रयासों को सहयोग देने, उद्यमियों के आपस में सामंजस्य बैठा, व्यवसाय करने तथा इस प्रकार के अधिवेशन में जागरूक सहभागिता का आहवान भी, उद्यमिता से जुडे वक्ताओ द्वारा किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  आर्मी पब्लिक स्कूल रानीखेत के विद्यार्थियों ने आजादी की ७५वीं वर्षगांठ पर नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति से आजादी के नायकों का कराया स्मरण

वक्ताओ द्वारा व्यक्त किया गया, ‘बिजनिश उत्तरायणी’ द्वारा उत्तराखंड के उद्यमियों व व्यवसायियों को इकठ्ठा कर, सबको एक साथ, एक मंच पर लाकर, उक्त चुनौतियो पर मंथन करने का जरिया बन, महत्वपूर्ण उद्देश्य की पूर्ति करने का, कार्य किया गया है, जो सराहनीय पहल है। वक्ताओ द्वारा, उद्यम विकास हेतु, संस्था द्वारा किए जा रहे कार्यो व उत्तराखंड के जनमानस व राज्य की आर्थिक उन्नति के लिए, प्रबुद्ध व्यवसायियो व उद्यमियों द्वारा, किए जा रहे प्रयासों, मिल रही सफलता व उद्यम विकास के क्षेत्र मे, अन्य जनसरोकारो से जुडी प्रभावी योजनाओ पर, मुखर होकर, विचार व्यक्त किए गए।

वक्ताओ द्वारा व्यक्त किया गया, आज मंथन की जरूरत है, कैसे हम सब, जो यहां इकठ्ठा हुए व्यवसायी हैं, उत्तराखंड के देश भर मे फैले प्रबुद्ध व्यवसायियों को संदेश पहुचा कर, उन सबको इकठ्ठा कर, विश्वास जगा, एक टीम बना, उत्तराखंड मे स्वरोजगार की दिशा मे लोगों को जागरूक कर, राज्य व राज्य के जनमानस के सरोकारों व आर्थिक उन्नति के लिए, बडे स्तर पर, कार्य कर सफलता प्राप्त करे।

दुबई से विशेष आमंत्रण पर पहुंचे, ‘प्रवासी भारतीय सम्मान 2019’ से सम्मानित गिरीश पंत,
द्वारा, दुबई, खाड़ी देशों और यूक्रेन आदि देशों में प्रवासी भारतीयों द्वारा मानवता की सेवा में किए गए कार्यों पर जानकारी दी गई तथा बिजनेस उत्तरायणी टीम को, दुबई में भी इसी प्रकार के अधिवेशन, आयोजन व मंथन हेतु स-हृदय आमंत्रित किया गया।

सभागार में उद्यमिता से जुडे प्रबुद्ध जनों के मध्य, वरिष्ठ व्यवसायी व जानेमाने समाजसेवी के सी पांडेय द्वारा स्थापित संचार पिरूल प्रोजेक्ट का वीडियो तथा उत्तराखंड एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका के अध्यक्ष डिमरी जी का वीडियो संदेश भी प्रदर्शित किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  'आजादी का अमृत महोत्सव' के उपलक्ष्य में रानीखेत में ‌‌‌‌‌‌भाजयुमो ने दोपहिया काफिले के साथ निकाली तिरंगा यात्रा

उत्तराखंड के प्रबुद्ध प्रवासी उद्यमियों व विशेषज्ञयो के सानिध्य मे, उत्तराखंड के उघमिता विकास से जुडे अनेकों ज्वलंत मुद्दों पर हुई सार्थक चर्चा के साथ, दूसरे राष्ट्रीय अधिवेशन ‘मंथन 2022’ आयोजन के समापन से पूर्व, ‘मानव रचना अंतरराष्ट्रीय विद्यालय’ निर्देशिका, श्रीमती संयोगिता शर्मा, द्वारा, ‘बिजनेस उत्तरायणी’ के प्रभावशाली उद्देश्यों व आयोजन की भूरि-भूरि प्रशंसा की गई तथा स्थापित संस्था के भविष्य के महत्व पर, प्रभावी प्रकाश डाला गया तथा भविष्य में इस प्रकार के आयोजनों को प्राथमिकता देते रहने पर, राय व्यक्त की गई। आयोजकों को ‘मानव रचना परिवार’ का सहयोग सदैव बनाए रखने का आश्वासन, दिया गया।

दूसरे राष्ट्रीय अधिवेशन ‘मंथन 2022’ के इस अवसर पर ‘बिजनेस उत्तरायणी’ द्वारा, सुप्रसिद्ध लोक गायिका आशा नेगी, वरिष्ठ अधिवक्ता उर्मिला नौटियाल, सृजन से पत्रिका संपादक मीना पांडे, स्कॉर्पियस इमीग्रेशन निर्देशक शीतल बैंस सब्बरवाल तथा सॉफ्टवेयर इंजीनियर लता भंडारी को वर्ष 2021 में उनके विभिन्न क्षेत्रों मे, समर्पित कार्यों हेतु, ‘वूमेन एक्सीलेंस अवार्ड 2022’ से सम्मानित किया गया।

सामाजिक व जनसरोकार के क्षेत्र में विशेष रुप से भूमिका निभाने पर, ‘गढ़वाल हितैषिणीं सभा’ नई दिल्ली, ‘कुमाऊ सांस्कृतिक एवं कल्याण संघ’ फरीदाबाद व ‘रुद्राक्ष फाउंडेशन’, फरीदाबाद को वर्ष 2021 के लिए ‘सोशल एक्सीलेंस अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया। आयोजन में उपस्थित अन्य उद्यमिता से जुडे वरिष्ठ जनो को ‘अवार्ड ऑफ ऑनर’ तथा उद्यमिता विकास मे उभरते युवाओ को ‘अवार्ड ऑफ एप्रिसिएशन’ से सम्मानित किया गया।

आयोजित कार्यक्रम का ओजस्वी व प्रभावशाली मंच संचालन लिसंग इंटरनेशनल निर्देशक, ज्योति संग द्वारा, आयोजन समिति सदस्य नीरज बवाड़ी, तारा बवाड़ी, भुवन हराड़ी, शेखर मैठानी तथा अरविंद शर्मा के सानिध्य मे किया गया।
—————–
[email protected]
9871757316

Leave a Reply

Your email address will not be published.