जी0 डी0 बिरला विद्यालय रानीखेत में लगी वार्षिक प्रदर्शनी व आठ दिवसीय ’स्वर संगम’ कार्यशाला का हुआ समापन

ख़बर शेयर करें -

आज दिनांक 20 मई 2023 को रानीखेत स्थित जी0 डी0 बिरला मैमोरियल स्कूल में विगत आठ दिनों से चली आ रही ’स्वर संगम’ कार्यशाला को सफलतापूर्वक संपन्न किया गया।
इस अवसर पर विद्यालय में समस्त अभिभावक आमंत्रित रहे। वरिष्ठ प्रधानाचार्य मो0 आसिम अली व उपप्रधानाचार्य श्री अजय बिहारी सेठ के निरीक्षण में सभी कार्यक्रम सम्पन्न हुए।
जी0डी0 बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में आज विभिन्न विषयों की प्रदर्शनी भी लगाई गई व अभिभावकों सहित अध्यापकों ने सभा का भी आयोजन किया।
सभी अभिभावकों ने विद्यालय के प्रति आभार व्यक्त किया ।वे बहुत प्रसन्न भी दिखाई दिए।
अपने बच्चों को विद्यालय के आकर्षक मंच पर प्रस्तुति देते देख अभिभावकों की खुशी चरम पर थी। पिछले एक सप्ताह से विद्यालय में छात्र विभिन्न कलाओं में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे थे। साथ ही विभिन्न विभागों द्वारा चार्ट और मॉडल के माध्यम से विषय की बारीकियों को भी सीख रहे थे।
स्वर संगम कार्यशाला के तहत तीरंदाजी, पाक-कला, ड्रामा, नृत्य, संगीत, सुलेख आदि कलाओं में छात्रों का आकर्षण रहा।
तीरंदाजी में कक्षा ग्यारह के अर्पित युसुफ ने प्रथम स्थान प्राप्त कर विजेता का खिताब अपने नाम किया। मानस नैनवाल दूसरे स्थान पर रहे व आयुष सती ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
छात्राओं की तीरंदाजी प्रतियोगिता में अंजलि टम्टा प्रथम, भक्ति घुघतियाल द्वितीय व अवनि बिष्ट तृतीय स्थान पर रही।
पाककला कार्यशाला में आज छात्रों के बीच एक प्रतियोगिता कराई गई।
इसमें छात्रों ने कुकीज़, दही भल्ला, उत्तपम, मौका काॅफी, ब्लैक फारेस्ट केक, वेज काठी रॉल आदि बनाया।
इस प्रतियोगिता में छात्रों के चार समूह थे जिन्होंने खाद्य व्यंजन बना कर विशिष्ट जनों को परोसे।
विद्यालय छात्र प्रतिनिधि राहुल राज द्वारा स्वागत भाषण प्रस्तुत किया गया।
सांस्कृतिक कार्यक्रम में कृष्ण वन्दना सभी आवासीय छात्राओं द्वारा प्रस्तुत की गई।
कलाश्री के मंच पर छात्राओं कन्नेटम्परेरी नृत्य पेश कर सभी की वाहवाही बटोरी।
अंग्रेजी नाटक ’’ लिटिल लैंड ऑफ शेक्सपियर ‘ का सफलतम मंचन हुआ।
तत्पश्चात बच्चों द्वारा कोडिंग एंड प्रोग्रामिंग के तहत अपनी छोटी-छोटी प्रोग्रामिंग प्रस्तुत की।
यह सभी कार्यक्रम श्रीमती मैत्री की देखरेख में करवाएँ गए।
विद्यालय में हुई प्रदर्शनी में हिंदी विभाग में कक्षा दस के छात्रों द्वारा बनाए गए सूरदास द्वारा रचित सूरसागर पर आधारित भ्रमरगीत पर चार्ट व माडल की प्रस्तुति को अत्यंत सराहा गया।
कला विभाग की प्रदर्शनी को अभिभावकों व अतिथियों द्वारा खूब सराहना मिली सामाजिक अध्ययन द्वारा वर्षा जल संरक्षण दर्शाया गया। उतराखण्ड का eco-system दिखाया गया बायोलोजी विभाग द्वारा। रसायन विज्ञान में paper currency burning ने दर्शकों को लुभाया। कम्प्यूटर विभाग में विभिन्न प्रोग्रामिंग लैंग्वेज प्रस्तुत किए गए। अंग्रेजी विभाग ने टाइटेनिक को अपना माध्यम बनाया तो गणित विभाग द्वारा वैदिक मैथ को चुना गया। वाणिज्य विभाग ने स्टाक एक्सचेंज व क्रिस्टी क्रैंसी का मॉडल प्रस्तुत किया।
मैनड्रीन विभाग द्वारा चाइनीज भाषा में वार्ता प्रस्तुत की गई।
कार्यक्रम का उदघाटन श्रीमती सुबुहि अली के करकमलों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। विद्यालय वरिष्ठ प्राचार्य मो0 आसिम अली द्वारा रिबन काटा गया एवं प्रदर्शनी को सभी के लिए खोला गया।
विद्यालय की ओर से अतिथियों व अभिभावकों के लिए जलपान का विशेष प्रबन्ध किया गया था।
ज़ैद अफ़जल (कक्षा बारह ) ने सभी को धन्यवाद पेश किया। वरिष्ठ प्रधानाचार्य मो0 आसिम अली ने स्वर संगम कार्यशाला की प्रभारी( incharge) श्रीमती मैत्री को सफलतम् कार्यक्रम हेतु बधाई दी एवं कहा कि वे छात्रों के चहुॅमुखी विकास पर विशेष ध्यान दे रहे हैं, और भविष्य में भी ऐसे कार्यक्रम विद्यालय में निरन्तर जारी रहेंगे।