सेना द्वारा चौबटिया -झूलादेवी मुख्य मोटर मार्ग बंद किए जाने से क्षेत्रीय जनता में आक्रोश, संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर दी सेना के विरुद्ध सड़क पर उतरने की चेतावनी

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत:सेना द्वारा चौबटिया -झूलादेवी मुख्य मोटर मार्ग को बंद किए जाने से क्षेत्रीय ग्रामीणों में आक्रोश है। इसी क्रम में आज चौबटिया क्षेत्र के निवासियों वह ग्रामीणों ने संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर सेना की इस मनमानी से निजात दिलाने की मांग करते हुए सड़क पर आंदोलन करने की चेतावनी दी है।
क्षेत्र के ग्रामीणों, चौबटिया वासियों एवं टैक्सी चालकों द्वारा आज संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत को दिए ज्ञापन में कहा गया है कि सेना की 99माउंटेन ब्रिगेड द्वारा पिछले छह माह से चौबटिया -झूलादेवी मुख्य मोटर मार्ग को आम नागरिकों,लोकल टैक्सियों,रसोई गैस की गाड़ी व स्कूल गाड़ियों के लिए बंद कर दिया गया है जिससे आम नागरिकों, ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।आम जनता व पर्यटकों को भी चौबटिया गार्डन वह रानीखेत आने-जाने से रोका जा रहा है। ज्ञापन में कहा गया है कि चौबटिया में कई बार विदेशी सेना के साथ संयुक्त युद्धाभ्यास होता रहा है लेकिन कभी भी आम जनता व ग्रामीणों के लिए मोटर मार्ग वह पैदल मार्ग को बंद नहीं किया गया लेकिन अब अभ्यास के नाम पर सेना के अधिकारियों द्वारा आम जनता को जगह -जगह अपनी जवानों की टुकड़ी बैठाकर परेशान किया जा रहा है।झूलादेवी-कुनेलाखेत मार्ग पर भी सेना के बड़े वाहन लगाकर आवाजाही रोकी जा रही है विशेषकर स्कूल वाहनों और अन्य वाहनों को रोका जा रहा है।ज्ञापन में सेना अधिकारियों पर अपने प्रभाव का ग़लत इस्तेमाल कर भोली भारी जनता को अकारण परेशान करने का आरोप लगाया गया है। ज्ञापन में सेना की मनमानी न रोके‌जाने पर सेना के विरुद्ध सड़क पर उतरने की चेतावनी दी गई है।
ज्ञापन देने वालों में जिला पंचायत सदस्य धन सिंह रावत, कुन्दन फर्त्याल, मनोज सती, कविंद्र मेहरा, प्रमोद गयाल,हरि प्रकाश, ललित सती,अनिल बेलवाल, सहित अन्य टैक्सी चालक व ग्रामीण मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  बीर शिवा स्कूल चौखुटिया में पुलिस ने विद्यार्थियों को किया साइबर क्राइम के प्रति जागरूक