महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष व उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी सुशीला बलूनी के निधन पर भाजपा महिला मोर्चा ने की शोक सभा

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन में महनीय भूमिका निभाने वाली राज्य आंदोलनकारी सुशीला बलूनी के‌ निधन पर यहां‌ भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा ने गहरा दु:ख प्रकट करते हुए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया जिसे संबोधित करते हुए मोर्चा की कुमाऊं मंडल संयोजक एवं प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विमला रावत ने उनके निधन को राज्य के लिए अपूर्णनीय क्षति बताया।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन में तत्कालीन महिला शक्ति के रूप में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली प्रसिद्ध राज्य आंदोलनकारी सुशीला बलूनी का निधन महिलाओं के लिए एक दुख का विषय है क्योंकि महिला समाज में सुशीला बलूनी एक प्रेरणा स्रोत महिला रही हैं जिन्होंने राज्य निर्माण में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हुए राज्य को मजबूती प्रदान करने के लिए अनेक पदों पर अपने दायित्व निभाए। उन्हें भाजपा सरकार ने विभिन्न दायित्व से भी नवाजा, महिलाओं में उनकी सक्रियता को देख, प्रदेश की राजनीति में उनका नाम हमेशा अग्रणीय रहा वह एक सौम्य, सहयोगी तथा संवेदनशील महिला होने के साथ-साथ अन्य महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत थी। उन्होंने अपना पूरा जीवन महिलाओं के उत्थान तथा भारतीय जनता पार्टी को मजबूत बनाने में अपना बहुमूल्य योगदान दिया है उनके इस योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता।कहा कि हम सभी महिलाएं उनकी इस अपूर्णनीय क्षति पर दुख प्रकट करते हुए इस दिवंगत आत्मा के लिए भगवान से प्रार्थना करते हैं कि बैकुंठ धाम में इस पवित्र आत्मा को स्थान मिले ।हम सभी महिला मोर्चा के पदाधिकारी अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि व्यक्त करते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

श्रद्धांजलि सभा में उपाध्यक्ष महिला मोर्चा उमा रावत , पूर्व जिलाध्यक्ष माया देवी, जिला महामंत्री सुनीता डावर जिला कार्यालय प्रभारी तनुजा शाह, जिला कार्यकारिणी सदस्य रेखा आर्य, अनु सोनकर, भारती भगत, मंडल अध्यक्ष सरिता पांडे, मंडल अध्यक्ष भावना बुधौडी़ ,माया नैनवाल, बबीता देवी मीना वर्मा, हेमा नेगी आदि उपस्थित रहे।