संविधान दिवस मनाया,भारतीय संविधान की प्रासंगिकता और चुनौतियों पर प्रकाश डाला गया।

ख़बर शेयर करें -

रानीखेतः स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जय दत्त वैला राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रानीखेत में संविधान दिवस के अवसर पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसका शीर्षक “मौलिक कर्तव्य लोकतंत्र के आधार स्तंभ” था । कार्यक्रम का शुभारंभ महाविद्यालय के प्राचार्य प्रोफ़ेसर पुष्पेश पांडे द्वारा दीप प्रज्वलन के साथ किया गया। राजनीति विज्ञान विभाग के द्वारा प्राचार्य को संविधान की उद्देशिका स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट की गई।

यह भी पढ़ें 👉  पीजी कालेज रानीखेत में आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत कई प्रतियोगिताओं के साथ हुआ वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की वीरता पर‌ नाट्य मंचन

कार्यक्रम में राजनीति विज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ जया नैथानी द्वारा लोकतंत्र में भारतीय संविधान की प्रासंगिकता एवं चुनौतियों पर प्रकाश डाला गया। निबंध प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय, तृतीय क्रमशः कैलाश चंद्र ,मेघा रावत तथा गीतिका रहे, इन तीनों विजेताओं द्वारा अपने विचार व्यक्त किए गए। निर्णायक मंडल में उपस्थित डॉ. अभिमन्यु कुमार, डाॅ.किरण लता पांडे एवं डाॅ. बी बी भट्ट द्वारा अपने अनुभवों विचारों को छात्र छात्राओं के साथ साझा किया गया। प्राचार्य द्वारा अपने उद्बोधन में संविधान के प्रति जागरूक एवं कर्तव्यों के प्रति सजग रहने की प्रेरणा दी गई। तत्पश्चात प्राचार्य द्वारा सभागार में उपस्थित छात्र-छात्राओं व प्राध्यापकों को संविधान की उद्देशिका की शपथ दिलाई गई। इस अवसर पर डॉ संजय कुमार, डॉ आर के सिंह ,डॉ कल्पना शाह, डा . सुमिता गरकोटी, डा.निधि पांडे,डा.रुपा आर्या, डाॅ.बरखा रौतेला, डॉ.सुशील जैन, प्रियंका जैन,डाॅ.पारुल बोरा,डाॅ.प्रीति सिंह ,डा.नीतिका महाविद्यालय के छात्र छात्राएं उपस्थित थे ।कार्यक्रम का संचालन राजनीति विज्ञान विभाग के प्राध्यापक दीपा मेहरा रावत एवं पूजा द्वारा किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  छावनी परिषद विद्यालय के विद्यार्थियों ने पुरजोश के साथ निकाली तिरंगा रैली, माहौल हुआ देश भक्ति से सराबोर

Leave a Reply

Your email address will not be published.