कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने कहा भाजपा सरकार ने डिसएबिलिटी पेंशन योजना में बदलाव कर सशस्त्र सैनिकों के हितों व सम्मान पर की चोट

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत– यहां कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने पत्रकार वार्ता में प्रदेश की भाजपा सरकार को किसानों, महिलाओं का शोषण करने‌ वाली सरकार करार दिया साथ ही कहा कि केंद्र सरकार ने‌ डिसएबिलिटी पेंशन योजना में बदलाव कर सशस्त्र सैनिकों के हितों व सम्मान पर चोट की है।

भाजपा सरकार को किसान विरोधी बताते हुए श्री माहरा ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने का वादा करने वाली सरकार किसानों के शोषण पर उतारु है,तराई के बाजपुर इलाके में बंदा टूटने से जो किसानों को फसल का नुक़सान हुआ था उसका अब तक मुआवजा नहीं दिया गया है।किसानों के लिए तौल कांटे लगाने और फसल का समर्थन मूल्य दे पाने में भी सरकार विफल‌ रही है ऐसे में सरकार बिचौलिए और ब्याजियों के हाथों किसानों का शोषण कर रही‌ है।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर की रोडवेज स्थित ट्यूबवेल से नगर में पानी बांटे जाने की मांग

उन्होंने अंकिता हत्याकांड सहित सिलसिलेवार हुए कई हत्याकांडों का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा सरकार में महिलाओं, बालिकाओं के बढ़ते दैहिक शोषण और इसमें भाजपा नेताओं की संलिप्तता के आरोप लगने के बावजूद सरकार के दबाव में उन्हें बचाया जाना गंभीर है। उन्होंने कहा कि नदियों का मनमाने तरीके से दोहन हो या नई शराब बिक्री नीति ऐसे कई कार्य है जो सरकार की ग़लत मंशा को दिखाते हैं।कहा कि अगर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रबल विरोध न होता तो सरकार पचास लीटर के लाइसेंस के जरिए घर-घर शराब बार बनाने की फिराक में थी।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर की रोडवेज स्थित ट्यूबवेल से नगर में पानी बांटे जाने की मांग

श्री माहरा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर उत्तराखंड में आकर यहां की आस्था से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि आदि कैलास में प्रधानमंत्री ने सामरिक दृष्टि से फोटो खींचने की मनाही के बावजूद फोटो खिंचवाई। उन्होंने केदारनाथ में गर्भ गृह सोने की परत मामले की जांच न किए जाने पर भी सरकार को घेरा कहा कि केदारनाथ के परम भक्त कहने वाले प्रधानमंत्री मोदी को स्वत: संज्ञान लेकर इसकी जांच करानी चाहिए था।

कांग्रेस अध्यक्ष माहरा ने सेना के लिए डिसएबिलिटी पेंशन योजना में बदलाव पर सवाल उठाते हुए कहा कि सशस्त्र बल कर्मियों के लिए हताहत पेंशन और दिव्यांगता के लिए मुआवजा पात्रता नियम, 2023 शीर्षक वाले नए नियमों में कुछ बीमारियों को केवल विशिष्ट क्षेत्र के लिए दिव्यांगता पेंशन के लिए पात्र होने से जोड़ा गया है जो कि सैनिकों के सम्मान पर चोट है।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर की रोडवेज स्थित ट्यूबवेल से नगर में पानी बांटे जाने की मांग

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की पत्रकार वार्ता में पीसीसी सदस्य कैलाश पांडे, क्षेत्र प्रमुख हीरा सिंह रावत, नगर अध्यक्ष उमेश भट्ट, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष गीता पवार, महिला कांग्रेस नगर अध्यक्ष नेहा‌ माहरा,गीता सजवान , लोकसभा कार्डिनेटर कुलदीप कुमार,दीपक पंत , यतीश रौतेला, कमलेश बोरा, महेश आर्या, हेमंत रौतेला,जीवन पांडे, आदि मौजूद रहे।