नगर पालिका में शामिल करने व छावनी बहिष्कार को लेकर धरना प्रदर्शन ११ वें दिन जारी,जन गीतों से गूंजा पंडाल

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत : छावनी के सिविल एरिया को रानीखेत छावनी से आज़ादी दिलाकर नगर पालिका में समायोजित करने की मांग को लेकर गाँधी चौक में 11वें दिन भी धरना -प्रदर्शन जारी रहा। आज जन गीतों से आंदोलनकारियों में जोश भरा गया। सुबह नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इण्डिया इकाई अल्मोड़ा ने पूर्व राज्यपाल व पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी को नगरपालिका से संबंध में एक ज्ञापन सौंपा, वहीं आज सायंकाल सुभाष चौक से मशाल जुलूस निकाला जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत किताब कौतिक में साहित्य व कला जगत की नामचीन हस्तियों ने शामिल होने की हामी भरी, तैयारियों पर चर्चा को लेकर हुई बैठक


धरना स्थल पर आज हुई बैठक में रानीखेत विकास संघर्ष समिति समिति ने जनता से आन्दोलन में बढ़-चढ़ कर भागीदारी करने की अपील की साथ ही कहा कि आंदोलन को नगर पालिका में शामिल किए जाने के बाद ही आंदोलनकारी दम लेंगे। समिति ने पूर्व राज्यपाल को नगर पालिका के लिए ज्ञापन सौंपने के लिए एनयूजेआई का आभार व्यक्त किया।आज पंडाल में जनगीतों के माध्यम से आंदोलनकारियों में जोश भरा गया।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत किताब कौतिक में साहित्य व कला जगत की नामचीन हस्तियों ने शामिल होने की हामी भरी, तैयारियों पर चर्चा को लेकर हुई बैठक

धरने में व्यापार मंडल पदाधिकारीगण, छावनी परिषद के निवर्तमान सभासद, रानीखेत के वरिष्ठ नागरिक, होटल एसोसिएशन, पत्रकारों, छात्र संघ सहित राजनीतिक और गैर राजनीतिक संगठनों सहित व्यापारियों ने सहभागिता की।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत किताब कौतिक में साहित्य व कला जगत की नामचीन हस्तियों ने शामिल होने की हामी भरी, तैयारियों पर चर्चा को लेकर हुई बैठक