धामी कैबिनेट की बैठक सम्पन्न,जानिए किन महत्वपूर्ण प्रस्तावों को मिली मंजूरी

ख़बर शेयर करें -

देहरादून। आज शाम सचिवालय में आयोजित राज्य मंत्रिमण्डल की बैठक में खेल नीति सहित 28 अहम प्रस्तावों को कैबिनेट ने अपनी मंजूरी दे दी है।

कैबिनेट में इन प्रस्तावों पर लगी मुहर

उत्तराखंड खेल नीति को केबिनेट से मंजूर

भोजन माताओं का मानदेय 2000 से बढ़ाकर 3000 रुपए
पीआरडी जवानों के मानदेय में भी 2100 रुपये की वृद्वि

राशन डीलरों को प्रति कुंतल 50 दिया जाएगा मुनाफा

स्वास्थ्य विभाग में लैब, एक्सरे टेक्नीशियन की नौकरी के लिए अनुभव की बाध्यता समाप्त।

प्रदेश में पार्किंग के अलग-अलग टाइप्स को मंजूरी।

SC/ST और BPL परिवारों को 3.12 एकड़ तक कि भूमि के विनयमिकरण शुल्क माफ।

बद्रीनाथ मास्टर प्लान में ध्वस्त होने वाले मकानों को सहमति से अलग-अलग मानकों पर दिया जाएगा मुवावजा, आवास की मांग करने वालो को दिया जाएगा आवास।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

मेडिकल छात्रों को दी जाने वाली राहत इसी वर्ष से होगी लागू।

केदारनाथ में निविदा 75.8 से 82 करोड़ की मंजूरी।
लीज की जमीन पर भी होम स्टे को मंजूरी।

उत्तराखंड में विधुत लाइन के नीचे आने वाली भूमि को भी मुआवजा मिलेगा।

उत्तराखंड राज्य के न्यायालयों में अब मोबाइल कोड के जरिये भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से भी पेशी हो सकेगी।

उत्तराखंड में मेगा इंडस्ट्रियल नीति लागू की गई वित्तीय प्रोत्साहन नीति लागू।
उत्तराखण्ड में मेगा टेक्सटाइल पार्क पॉलिसी में विस्तार।

लॉकडाउन में बंद शराब की दुकानों के राजस्व की वापसी को मंजूरी।
एयरपोर्ट पर भी अब डिपार्टमेंटल वाइन स्टोर को मंजूरी विदेशी शराब की दुकान खुल सकेगी।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

नई खेल नीति 2021

उत्तराखंड कैबिनेट बैठक के निर्णयानुसार प्रदेश में खेल संस्कृति के विकास व उन्नयन हेतु उत्कृष्ट एवं प्रभावी ‘उत्तराखंड खेल नीति-2021’ के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गयी है।

लम्बे समय से प्रतीक्षा कर रहे समस्त खिलाड़ियों, प्रशिक्षकों, खेल प्रेमियों को ‘उत्तराखंड खेल नीति-2021’ लागू होने पर बधाई एवं शुभकामनाएं। देश में आज जिस प्रकार खेलों में युवाओं की रूचि तथा अनेक संभावनाओं ने आकार लिया है, इसके दृष्टिगत प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में युवाओं के हित में ‘उत्तराखंड खेल नीति-2021’ का निर्माण किया गया।

‘उत्तराखंड खेल नीति-2021’ के अंतर्गत वर्तमान में इलेक्ट्रॉनिक कल्चर से प्रभावित बच्चों और युवाओं को पुनः खेलों के प्रति प्रेरित कर प्ले फील्ड कल्चर की ओर अग्रसर किया जायेगा। ‘उत्तराखंड खेल नीति 2021’ में खेल एवं खिलाड़ियों के उन्नयन, खेल प्रतिभाओं को तलाशने, निखारने व उभारने, खेलों के प्रति रुचि बढ़ाने, खिलाड़ियों के नियोजन, सामान्य आहार के साथ-साथ एक्स्ट्रा न्यूट्रिएंट्स फूड डाइट की व्यवस्था, खिलाड़ियों के लिए रोजगार के अवसर तथा सम्बंधित पूर्ण सुविधाएँ प्रदान करने का प्रावधान किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

युवाओं में राष्टीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतिभाओं को विकसित करने हेतु उचित आर्थिक प्रोत्साहन का प्रावधान किया गया है। ‘उत्तराखंड खेल नीति-2021’ की मंजूरी हेतु माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के साथ समस्त कैबिनेट का ह्रदय की गहराई से आभार व्यक्त करता हूँ। निश्चित ही आगामी भविष्य में उत्तराखंड, खेल प्रदेश के रूप में भी अपनी पहचान बनाएगा। प्रदेश के खिलाड़ी, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पटल पर देश-प्रदेश का नाम रोशन करेंगे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.