नशाबंदी की दिशा में आगे बढ़ रहा यह गाँव अब तुलसी की खुशबू से महकेगा

ख़बर शेयर करें -

मुनस्यारी।
नशाबंदी पर आगे बढ़ रहे ग्राम पंचायत गिरगांव में इस बार तीस नाली भूमि पर श्याम प्रजाति की तुलसी का रोपण किया जाएगा। आज जड़ी बूटी शोध संस्थान गोपेश्वर के विशेषज्ञों ने महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बीज बोए जाने का प्रैक्टिकल खेत में कराया।
जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया के आव्हान पर ग्राम पंचायत गिरगांव पहला गांव बन गया है जो शराब बंदी को पूर्ण रूप से लागू करने में जुटा हुआ है।
ग्रामीणों के इस फैसले से अभिभूत होकर अपनी घोषणा के मुताबिक जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने गिरगांव को गोद ले लिया है।
गिरगांव की महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के साथ ही नौजवान शराब बंदी के साथ गांव में रोजगार के नवीन अवसरों को पैदा करने में जुट गए है।
जड़ी बूटी शोध संस्थान गोपेश्वर के विशेषज्ञ देवकीनंदन गुरुरानी तथा गणेश राम ने आज गिरगांव में महिलाओं को तुलसी के बीज रोपण की विधि बताई।
उन्होंने तुलसी के बीज रोपण कैसे होता है, उस पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी। रोपण की विधि भी बताई। एक नली में तुलसी की तीन फसल ली जा सकती है। उन्होंने बताया कि तुलसी को हम व्यापार करने के उद्देश्य से पैदा करें।
इस मौके पर ग्राम प्रधान हंशा दुबड़िया दुबड़िया, युवक मंगल दल के अध्यक्ष देवा दुबड़िया, ग्राम संगठन की अध्यक्ष रेखा, महिला मंगल दल की अध्यक्ष ममता आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  CARE' संस्था द्वारा हिमांशु पाठक व कमल गोस्वामी को 'फोटोग्राफर ऑफ रानीखेत' सम्मान के लिए चुना गया, शीघ्र किया जाएगा सम्मान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *