सुखद ख़बर: ईमानदारी का परिचय देते हुए बालम सिंह ने असली मालकिन को लौटाया डेढ़ तोले का मंगलसूत्र

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत -देवभूमि उत्तराखंड को हमेशा से यहाँ के निवासियों की ईमानदारी के लिए जाना जाता है। ऐसी ही एक और घटना रानीखेत में देखने में आई जहाँ एक व्यक्ति द्वारा डेढ़ टोले सोने का मंगलसूत्र उसके असली मालकिन को ढूंढकर सौंप दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  वोट डालने हल्द्वानी जा रहे चिकित्सक की कार अनियंत्रित होकर खाई में गिरी, हुई मौत,

रानीखेत छावनी परिषद् में कार्यरत बालम सिंह जंतवाल को कुछ दिन पूर्व रास्ते में पड़ा हुआ एक मंगलसूत्र मिला। उनके द्वारा मंगलसूत्र की जाँच करवा कर ईमानदारी का परिचय देते हुए उनके द्वारा इस बात की जानकारी सोशल मीडिया में साझा की गई। जल्द ही इसकी असली मालकिन ग्राम पल्यूड़ा पोस्ट अम्याड़ी निवासी भगवती देवी उम्र 80 वर्ष के परिजनों तक सोशल मीडिया के माध्यम से इसकी सूचना पहुंच गई। जिसके पश्चात् उन्हें बुलाकर मंगलसूत्र की पहचान बताने पर मंगलसूत्र आज उनके हवाले किया गया। बालम सिंह जंतवाल द्वारा दिखाई गई ईमानदारी के लिए छावनी परिषद् के नामित सदस्य मोहन नेगी, मनोज अग्रवाल, हर्षवर्धन पंत, कामरान कुरैशी, नवल पांडेय, अमित हर्बोला, धन सिंह, बिष्ट लक्ष्मण सिंह नेगी आदि ने उनकी प्रशंसा की है।