खडी़ बाजार ऐतिहासिक श्री रामलीला: छठे दिवस सूर्पणखा नासिका छेदन प्रसंग देखने डटे रहे दर्शक

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: तुम सम पुरुष ना मो सम नारी, यह संयोग विधि रचा विचारी… लंकापति रावण की बहन सूर्पणखा बार-बार लक्ष्मण से यह कहती रही लेकिन लक्ष्मण टस से मस नहीं हुए। उन्होंने समझाने की कोशिश की। सूर्पणखा नहीं मानी तो उन्होंने उसका नासिका छेदन कर दिया और रामलीला पंडाल में बैठे दर्शकों ने इस रोमांचक दृश्य को देखकर करतल ध्वनि से अपनी खुशी का इजहार किया।

यह भी पढ़ें 👉  जे एंड जे सिटी मांटेसरी स्कूल का वार्षिकोत्सव रंगारंग कार्यक्रम के साथ संपन्न, छात्र -छात्राओं ने विभिन्न देशों की संस्कृति मंच पर उतारी

यहां खड़ी बाजार में ऐतिहासिक श्री रामलीला का मंचन जारी है। दर्शक देर रात तक श्री रामलीला मंचन का लुत्फ उठा रहे हैं। शुक्रवार छठे दिवस का मंचन काफ़ी रोमांचक रहा।सूर्पणखा का प्रवेश होता है, वह अपना रूप बदल कर राम को रिझाने का प्रयास करती है। राम उसे लक्ष्मण के पास भेज देते हैं। लक्ष्मण उसे पहले मना करते हैं। बाद में उसकी नाक काट देते हैं। वह भागती हुए खर और दूषण के पास जाती है। दोनों राम और लक्ष्मण से युद्ध करने आते हैं और मारे जाते हैं। इसके बाद सूर्पणखा रावण के दरबार में पहुंचती है। रावण अपने मामा मारीच को सीता हरण में साथ देने के लिए तैयार करता है। सूर्पणखा बने नंदन बिष्ट ने अपने शानदार नृत्य और संवाद अदायगी से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। रावण की भूमिका में राहुल मसीह और खर और दूषण की भूमिका को विनीत चौरसिया व‌ दीपक पंत ने प्रभावशाली ढंग से निभाया। आपको बता दें कि कोरोना काल‌ के बाद इस बार श्री रामलीला पुनर्आरम्भ हुई है जिसकारण कलाकारों के अलावा इसे लेकर दर्शकों में भी खासा उत्साह देखा जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  पी जी कॉलेज रानीखेत में 12 दिवसीय ई.डी.पी. कैंप के द्वितीय दिन विशेषज्ञों ने दिए विस्तृत व्याख्यान