केंद्रीय सेवाओं में रोजगार प्राप्ति हेतु उत्तराखंड पर्वतीय अंचल के बीस गरीब अव्वल चयनित स्नातकों को नि:शुल्क प्राप्त होगा प्रशिक्षण व आवास सुविधा

ख़बर शेयर करें -

सी एम पपनैं

नई दिल्ली, 8 दिसंबर। ‘उत्तराखंड मानव सेवा समिति दिल्ली’ अध्यक्ष बी एन शर्मा (पूर्व भविष्य निधि आयुक्त) के सानिध्य मे, विगत अनेक वर्षो से, उत्तराखंड के पर्वतीय अंचल में, गरीबों व जरूरत मंद लोगों की, विभिन्न माध्यमों से, मदद की जाती रही है। कोरोना विषाणु संक्रमण की त्रासदी मे, महावीर इंटर नेशनल की वीरा डिविजन के मुख्य वित्त प्रभारी के पद पर पदस्थ रह कर, हजारों पीड़ित व जरूरत मंद लोगों की, विभिन्न प्रकार से मदद की जाती रही है। समय-समय पर दक्ष डाक्टरो की टीमों द्वारा, मेडिकल कैंप लगा कर, नि:शुल्क दवाइयां, चश्में इत्यादि का वितरण किया जाता रहा है।

माह जनवरी, 2022 से 4 से 6 माह तक, उत्तराखंड पर्वतीय अंचल के गरीब और जरूरतमंद परिवारों के स्नातक परीक्षा उत्तीर्ण प्रतिभावान छात्र, जो केंद्र सरकार की सेवाओं से जुडे, बैंक, रेलवे, टैक्स सहायक व एसएससी की समूह ‘ग’ परीक्षा की तैयारी कर, बेहतर भविष्य की तलाश कर रहे हैं, ऐसे अभ्यार्थियों के लिए, उक्त सेवा समिति, मौका शिक्षण फाउंडेशन के सहयोग से, एक समय मे, बीस अव्वल चयनित स्नातकों को, लूटा बगड़ रामनगर (उत्तराखंड) मे, नि:शुल्क प्रशिक्षण के साथ-साथ खाने व आवास की सुविधा, उपलब्ध कराए जाने की योजना बनाई गई है।

यह भी पढ़ें 👉  अनियंत्रित होकर कार गहरी खाई में गिरी ,दो लोगों की मौके पर मौत

इच्छुक अभ्यार्थियों के लिए बनाऐ गए नियमो के मुताबिक, अभ्यार्थी 55 फीसद अंकों के साथ, स्नातक परीक्षा उत्तीर्ण हो। संस्था द्वारा प्रथम चरण मे किए गए स्क्रीनिंग टेस्ट में, 1 से 20 तक, अंक प्राप्त किए हों तथा इच्छित वर्ग में सामान्य ज्ञान परीक्षा पास की हो। अवगत कराया गया है, चयनित अभ्यर्थियों को नि:शुल्क प्रशिक्षण, आवास व खाने की सुविधा दक्ष व अनुभवी शिक्षकों व सेवानिर्वत अधिकारियों के सानिध्य व संरक्षण मे प्रदान की जायेगी।

उक्त प्रशिक्षण योजना मे, रामनगर और उत्तराखंड के मैदानी क्षेत्रों से आने वाले अभ्यर्थियों के लिए, बीपीएल अथवा अंत्योदय योजना का लाभार्थी होना आवश्यक माना गया है। आयोजकों द्वारा अवगत कराया गया है, मुफ्त राशन और आवास की सुविधा केवल उत्तराखंड के पर्वतीय अंचल के सफल प्रतियोगियों को ही उपलब्ध कराई जाएगी। शेष मैदानी क्षेत्र के अभ्यर्थियों को स्वयं खर्च उठाना होगा।

यह भी पढ़ें 👉  यहां होटल में शव मिलने से‌ क्षेत्र में मचा‌ हड़कंप

इच्छुक अनुशासन का पालन करने वाले अभ्यार्थियों हेतु आयोजकों द्वारा गूगल फॉर्म https://bit.ly/MissionChhalaangApplicationUK ( link) जारी किया गया है। अवगत कराया गया है, अभ्यार्थी सुविधानुसार रोहित रावत (रामनगर, जिला नैनीताल) मोबाइल नंबर 81930 26739 अथवा वी एन शर्मा (पूर्व भविष्य निधि आयुक्त) मोबाइल नंबर 9958880080 पर भी, संपर्क कर सकते हैं।

उत्तराखंड के नैनीडांडा ब्लाक के गांव मजेडा व किनाथ तल्ला के मूल निवासी, वर्तमान मे सु-विख्यात समाजिक संस्था ‘मानव सेवा समिति दिल्ली’ के अध्यक्ष वी एन शर्मा, विगत अनेक वर्षो से, उत्तराखंड के पर्वतीय अंचल मे, चिकित्सा सुविधाओ को बेहतर करवाने के साथ-साथ, कैंसर के उपचार के लिए, कैंप कार्यालय खुलवाने के लिए भी प्रयासरत रहे हैं। इस दिशा में पहली सफलता के रूप में, अखिल भारतीय अनुसंधान परिषद (एम्स) ऋषिकेश की आचार-विचार समिति द्वारा, 18 वर्ष से 65 वर्ष की महिलाओं में, स्तन कैंसर की जागरूकता और उससे बचने की जानकारी के विषय में क्षेत्र में सर्वेक्षण करने की अनुमति, विगत माह नवम्बर 2021 मे प्रदान की गई है। प्रथम चरण मे इस कार्य की स्वीकृति हेतु नैनीडांडा, रिखणीखाल, जखरीखाल, बीरोंखाल इत्यादि क्षेत्रों को चुना गया है। उक्त महत्वपूर्ण स्वास्थ सुविधा उपलब्ध कराने मे, ‘उत्तराखंड मानव सेवा समिति’ के अध्यक्ष बी एन शर्मा तथा एम्स ऋषिकेश के डाॅ दीपक सुंद्रियाल के अथक प्रयासों को जनमानस द्वारा सराहा जा रहा है।
————
[email protected]
9871757316

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड विधानसभा का सत्र कल‌ से, सायं 4:00 बजे विधानसभा में अनुपूरक बजट को सरकार सदन के पटल पर रखेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *