रानीखेत में गहराते पेयजल संकट और बिगड़ैल‌ यातायात व्यवस्था पर संयुक्त मजिस्ट्रेट ने आहूत की बैठक,दिए निर्देश

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत – नगर में निरंतर गहरा रहे‌ पेयजल संकट और यातायात अव्यवस्था को‌ लेकर संयुक्त मजिस्ट्रेट वरूणा अग्रवाल ने विभिन्न विभागीय अधिकारियों की बैठक आहूत की जिसमें नगर में पेयजल व्यवस्था और यातायात व्यवस्था में सुधार लाने को कहा गया‌ जिससे आम जनता को परेशानी न हो।
, बैठक में मुख्य मुद्दा रानीखेत में गहरा रही पेयजल समस्या व पार्किंग की अव्यवस्था रही। छावनी परिषद के अनुभाग अधिकारियों ने पेयजल की समस्या की जानकारी हुए बताया कि उपलब्ध जल के हिसाब से नगर में अलग-अलग इलाकों में एक दिन छोड़कर जलापूर्ति की जा रही है साथ ही वाहनों के जरिए भी पेयजल वितरण किया जा‌ रहा है।
पेयजलापूर्ति के समय‌ कतिपय लोगों द्वारा टुल्लू
मोटर पम्प से पानी खींचने की‌ शिकायत पर संयुक्त मजिस्ट्रेट ने विद्युत विभाग को निर्देश दिया कि प्रातः पेयजलापूर्ति के समय शटडाउन किया जाय जिससे पानी की आपूर्ति सभी को सामान्य रूप से हो सके। सूत्रों से पता चला कि प्रातः कुछ लोग मोटर आदि का प्रयोग कर रहे हैं, जिससे पानी की आपूर्ति सभी को समान रूप से नहीं हो पा रही है।
नगर में सार्वजनिक सड़कों पर वाहनों को खड़ा किए जाने की आ रही शिकायतों पर संयुक्त मजिस्ट्रेट ने संबंधित विभागों से निर्धारित पार्किंग स्थलों पर ही वाहनों को खड़ा किया जाना सुनिश्चित करने को कहा।
बैठक में तहसीलदार दीपिका आर्या, छावनी परिषद नामित सदस्य मोहन नेगी सहित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  केआरसी सेंटर आफिस में 21जून को आयोजित होगा भूतपूर्व सैनिक मेला, सभी भूतपूर्व सैनिकों से मेले में शिरकत कर अपनी समस्याएं बताने की अपील