नगर पालिका में छावनी सिविल एरिया का विलय शीघ्र नहीं तो लोक सभा चुनाव बहिष्कार, इधर आज रक्षा संपदा अधिकारियों व राज्य सरकार के बीच अहम बैठक

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत– आज रानीखेत विकास संघर्ष समिति की बैठक में रानीखेत सिविल एरिया का शीघ्र नगर पालिका में विलय न किए जाने पर लोक सभा चुनाव का बहिष्कार करने का निर्णय लिया गया।इस बीच आज रक्षा संपदा अधिकारियों और राज्य सरकार के बीच आज अहम बैठक होनी है। सूत्र बताते हैं कि सेना नगर पालिका में कृषि भूमि भी देने को सहमत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें 👉  वोट डालने हल्द्वानी जा रहे चिकित्सक की कार अनियंत्रित होकर खाई में गिरी, हुई मौत,

आज हुई बैठक में आंदोलन की भविष्य की रणनीति पर विचार-विमर्श हुआ ।बैठक में वक्ताओं ने एक स्वर में कहा कि अगर रानीखेत सिविल एरिया को शीघ्र ही रानीखेत-चिलियानौला नगरपालिका में समायोजित नहीं किया गया तो लोकसभा चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा।

बैठक में इस बात पर आक्रोश व्यक्त किया गया कि नौ माह बीतने के‌ बाद भी प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार को नगरपालिका के लिए प्रस्ताव तक नहीं भेजा है जोकि दुर्भाग्यपूर्ण है। कहा कि अगर जल्दी ही नगरपालिका नही बनी तो रानीखेतवासी लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  भतरौंजखान- भिकियासैंण मार्ग में दर्दनाक हादसा,बाइक सवार युवक की मौत,एक घायल

इस बीच खबर है कि आज रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों स्थानीय सैन्य अधिकारी और‌ राज्य सरकार के अधिकारियों के मध्य इस बावत वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अहम बैठक होनी है। सूत्र बताते हैं कि सेना सिविल एरिया में कृषि भूमि देने पर सहमत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें 👉  इस बार उत्तराखंड में 2019 की‌ तुलना में कम हुआ मतदान,पूरे प्रदेश में 53.56मतदान, उदासीन दिखा मतदाता


बैठक में गिरीश भगत, हेमंत मेहरा, अनिल वर्मा, अगस्त लाल साह, दीप चंद्र पांडे, पूरन पांडे, उमेश भट्ट, महेश आर्य, चारू पंत, हरीश अग्रवाल, हरीश मैनाली, रघुवर दत्त शर्मा, विनीत चौरसिया, खजान पांडे, यतीश रौतेला, चंद्र शेखर गुरुरानी , भय्यू साह, हरीश शर्मा, लाखन अग्रवाल, सोनू सिद्दीकी आदि उपस्थित रहे।