रानीखेत विकास संघर्ष समिति ने महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पं.मदनमोहन उपाध्याय की पुण्यतिथि पर उन्हें दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत : महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पं मदनमोहन उपाध्याय की आज पुण्यतिथि है।इस अवसर पर यहां गांधी चौक में रानीखेत विकास संघर्ष समिति ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उनका भावपूर्ण स्मरण किया।

महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पं.उपाध्याय को श्रद्धांजलि देते हुए वक्ताओं ने उन्हें अदम्य साहस और चातुर्य से भरपूर सेनानी बताते हुए आज़ादी की लड़ाई के दौरान के उनके श्रुत किस्सों को याद किया।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल

ध्यातव्य है कि पं. मदन मोहन उपाध्याय एक महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रहे। भारत छोड़ो आंदोलन में उनके प्रभावी योगदान के कारण उन्हें कुमाऊं टाइगर कहा गया।मदन मोहन उपाध्याय के सिर पर ब्रिटिश सरकार ने ₹1000 का इनाम घोषित किया, ईनाम की इतनी बड़ी राशि देश के कुछ चुनिंदा स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के ऊपर थी। आज़ादी के बाद 1952 में वह पहले विधानसभा चुनाव में प्रजा सोशलिस्ट पार्टी की ओर से रानीखेत से विधायक चुने गए, उत्तर प्रदेश विधान मंडल के उपाध्यक्ष रहे, रानीखेत, द्वाराहाट क्षेत्र के आधारभूत विकास के लिए उनके द्वारा कई महत्वपूर्ण कार्य किए गए,जिनमें रानीखेत का प्रसिद्ध सिविल अस्पताल, रानीखेत का विद्युतीकरण और द्वाराहाट रानीखेत मोटर मार्ग जैसे निर्माण कार्य महत्वपूर्ण हैं. 1 अगस्त 1978 में रानीखेत में मदन मोहन उपाध्याय का देहावसान हुआ।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल