रा० इ० का० कुनेलाखेत में लोक संस्कृति संवर्धन दिवस प्रारंभ,आज विद्यार्थियों ने लगाई स्थानीय फलों की प्रदर्शनी

ख़बर शेयर करें -


रानीखेत: आज रा० इ० का० कुनेलाखेत में ऐपण संस्कृति क्लब के तत्वावधान में लोक संस्कृति संवर्धन दिवस मनाने की परंपरा की शुरूआत हुई। अब प्रत्येक माह के अंतिम कार्य दिवस को लोक संस्कृति संवर्धन दिवस के रूप में मनाएं जाने का ऐलान किया गया।


इस माह की थीम ” स्थानीय फल ” के अंतर्गत प्रार्थना सभा के बाद विद्यार्थियों ने सदनश: विभिन्न स्थानीय फलों का प्रदर्शन किया एवं सदन प्रभारी शिक्षकों के मार्गदर्शन में प्रत्येक सदन के सदन प्रमुख द्वारा स्थानीय फलों के बारे में विस्तार से जानकारी देने के साथ ही लोक संस्कृति के साथ उनके संबंध को विभिन्न लोक गाथाओं के साथ बताया गया।विद्यार्थियों द्वारा विभिन्न फलों की प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया गया।
इसके पूर्व ऐपण संस्कृति क्लब प्रभारी दीप चंद्र पांडे ने लोक संस्कृति संवर्धन को समय की आवश्यकता बताते हुए कहा कि विद्यालय में प्रत्येक माह के अंतिम कार्य दिवस को लोक संस्कृति संवर्धन दिवस के रूप में मनाया जाएगा।
प्रधानाचार्य सुरेश चंद्रा द्वारा कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए सभी सदन प्रभारियों एवं छात्र-छात्राओं को इस अनूठी पहल की बधाई दी।
इस अवसर पर कु० पूजा जोशी, श्रीमती हेमा मेहरा, श्रीमती अनिता कुमारी, श्रीमती योगेश्वरी, महिपाल धपोला, श्याम सुंदर, राजेंद्र बिष्ट, विजय बेलवाल, किशोर चंद्र तिवारी, मुकेश पांडे, अनूप दास, ललित बिष्ट, कु० आरती बिष्ट आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत