राज्य में होगा नए जिलों का गठन, सरकार को है पूर्व गठित कमेटी की रिपोर्ट का इंतज़ार,सीएम ने दिए संकेत

ख़बर शेयर करें -

काशीपुर: यहां एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने राज्य में

नए जिलों के निर्माण का‌ संकेत दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जल्द ही नए जिलों का गठन किया जाएगा। फिलहाल नए जिलों के गठन के लिए पूर्व में बनाई कमेटी की रिपोर्ट का इंतजार है। समान नागरिक संहिता का ड्राफ्ट भी 30 जून तक तैयार हो जाएगा।

ध्यातव्य है राज्य गठन के बाद से ही उत्तराखंड के कई क्षेत्रों को जिला बनाए जाने की मांग उठती रही है। 15 अगस्त 2011 को तत्कालीन सीएम डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने चार शहरों को जिला बनाने की घोषणा की थी। इनमें उत्तरकाशी का यमुनोत्री, पौड़ी गढ़वाल का कोटद्वार, अल्मोड़ा का रानीखेत और पिथौरागढ़ का डीडीहाट क्षेत्र शामिल था। बाद में काशीपुरवासियों की नाराजगी के बाद इस शहर को भी जिला घोषित किए जाने पर मौखिक सहमति दे दी गई।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

अब मुख्यमंत्री धामी के बयान ने नए जिलों के गठन को लेकर एक बार फिर उम्मीद जगा दी है। सोमवार को मुख्यमंत्री ने काशीपुर में 355 करोड़ रुपये की 113 योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। बाजपुर रोड पर बीजेपी जिला कार्यालय के भूमि पूजन में शिरकत करने के बाद उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि हमारी सरकार नए जिलों को लेकर हमेशा गंभीर रही है। हम चाहते हैं कि सबकी पहुंच आसानी से सरकार तक हो, साथ ही सब की समस्या का समाधान हो। नए जिलों के गठन समेत प्रदेश के हक में जिन फैसलों को लेने की जरूरत है, वह लिए जाएंगे। कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद नए जिलों के गठन को लेकर फैसला लिया जाएगा।