जी0 डी0 बिरला विद्यालय रानीखेत में लगी वार्षिक प्रदर्शनी व आठ दिवसीय समर वर्कशॉप ‘निर्मिति’ का आज हुआ समापन

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत -आज रानीखेत स्थित जी0 डी0 बिरला मैमोरियल स्कूल में विगत आठ दिनों से चली आ रही ’ग्रीष्मकालीन कार्यशाला’ निर्मित को सफलतापूर्वक संपन्न किया गया।
इस अवसर पर विद्यालय में समस्त अभिभावक आमंत्रित रहे। वरिष्ठ प्रधानाचार्य मो0 आसिम अली के निरीक्षण में सभी कार्यक्रम सम्पन्न हुए।
जी0डी0 बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में आज विभिन्न कार्यशालाओं की प्रदर्शनी भी लगाई गई व अभिभावक- अध्यापक सभा का भी आयोजन किया।
सभी अभिभावकों ने विद्यालय के प्रति आभार व्यक्त किया । वे बहुत प्रसन्न भी दिखाई दिए।
अपने बच्चों को विद्यालय के आकर्षक मंच पर प्रस्तुति देते देख अभिभावकों की खुशी चरम पर थी। पिछले एक सप्ताह से विद्यालय में विद्यार्थीगण विभिन्न कलाओं में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे थे। साथ ही विभिन्न कार्यशालाओं के माध्यम से चार्ट और मॉडल के माध्यम से विषय की बारीकियों को भी सीख रहे थे।
ग्रीष्मकालीन कार्यशाला के तहत तीरंदाजी, पाक-कला, ड्रामा, संगीत, ऐपण कला , जनजातीय कला (Tribal Art), मोनोलाॅग, पेपर कटिंग, टेनग्रम, बीड्स वर्क, पब्लिक स्पीकिंग ,नुक्कड़ नाटक आदि कलाओं में छात्रों का आकर्षण रहा।
तीरंदाजी में कक्षा बारह के मानस नैनवाल ने प्रथम स्थान प्राप्त कर विजेता का खिताब अपने नाम किया। पीयूष आर्या दूसरे स्थान पर रहे व दिव्यांश रौतेला ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
छात्राओं की तीरंदाजी प्रतियोगिता में अरुणिमा चौरसिया प्रथम, श्रेष्ठा द्वितीय व भक्ति घुघतियाल तृतीय स्थान पर रही।
पाककला कार्यशाला में आज विद्यार्थियों ने बिना आग की सहायता लिए विभिन्न व्यंजन प्रस्तुत किए। जिन्हें वरिष्ठ प्रधानाचार्य द्वारा खूब सराहा गया।
छात्र-छात्राओं ने एक सप्ताह तक आकर्षक ढंग से ज्वाला रहित व्यंजन बनाने की कला का प्रशिक्षण लिया।
शीर्ष सचान , कक्षा नौ द्वारा स्वागत भाषण प्रस्तुत किया गया। अमित व नैना , कक्षा ग्यारह से बखूबी मंच संचालन कर रहे थे । Away from home गीत में बच्चों के आवासीय जीवन की झलक मिली।
मोइन सलाम खान ने पियानो पर मधुर धुनों से सभी का मन मोह लिया।
सांस्कृतिक कार्यक्रम में शिव तांडव स्त्रोत् से शुरूआत हुई जिसे नमन, यशस्वी अपूर्वा, आरुषी व भक्ति ने स्वर दिया जबकि पीयूष आर्या ड्रम पर कृशडाॅन सिन्थेसाइजर पर वर्तिका डोभाल व अंकित नेगी गिटार पर अभय पाण्डे पियानो पर प्रख्यात श्रेष्ठ गिटार पर
संगीत दे रहे थे।। वरिष्ठ वर्ग के विद्यार्थियों ने “रीढ़ की हड्डी “ एकांकी का अंग्रेजी रूपांतरण प्रस्तुत कर समां बांधा तो वही कनिष्ठ वर्ग द्वारा “जल संकट” पर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से शानदार प्रस्तुति दी गई।
कलाश्री के मंच पर विद्यार्थियों ने विभिन्न स्वगत भाषण ( monologue) प्रस्तुत किए।
पेपर कटिंग की कार्यशाला का प्रदर्शन अद्भुत रहा । बच्चों द्वारा अखबार से बनी विभिन्न पोशाकों का मनमोहक
विद्यालय में हुई प्रदर्शनी में जनजातीय कला, उत्तराखण्ड की लोक कला ऐपण , मोतियों की सुंदर कारीगरी, Textile designing व Tangram shapes को सराहा गया।
भौतिक विज्ञान विभाग द्वारा भी प्रदर्शनी में माॅडल पेश किए गए।
कार्यक्रम का उद्घाटन विद्यालय वरिष्ठ प्रधानाचार्य मोहम्मद आसिम अली व श्रीमती व श्री सचान के करकमलों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। विद्यालय वरिष्ठ प्राचार्य मो0 आसिम अली द्वारा रिबन काटा गया एवं प्रदर्शनी को सभी के लिए खोला गया।
विद्यालय की ओर से अतिथियों व अभिभावकों के लिए जलपान का विशेष प्रबन्ध किया गया था। श्रेष्ठा (कक्षा बारह ) ने सभी को धन्यवाद पेश किया। वरिष्ठ प्रधानाचार्य मो0 आसिम अली ने ग्रीष्मकालीन कार्यशाला की सफलता पर अपने स्टाफ व विद्यार्थियों को बधाई दी एवं कहा कि वे छात्रों के चहुॅमुखी विकास पर विशेष ध्यान दे रहे हैं, और भविष्य में भी ऐसे कार्यक्रम विद्यालय में निरन्तर जारी रहेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  न्याय पंचायत चौकुनी में ‌श्रम विभाग ने लगाया श्रम कार्ड पंजीकरण शिविर, श्रमिकों के कार्डों का हुआ पंजीयन