रानीखेत में चेतना दिवस के रूप में मनायी गई बाबा साहब डॉ अम्बेडकर की जयंती,चेतना रैली‌ निकाली, बाबा साहब के विचारों को आत्मसात करने का‌ लिया संकल्प

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: संविधान निर्माता डॉ भीमराव अम्बेडकर की १३२वीं जन्मजयंती यहां चेतना दिवस के रूप में मनायी गई।इस अवसर‌ पर‌ बाबा साहब अंबेडकर के विचारों को अपने जीवन में, अपने व्यवहार में लाने का संकल्प लिया गया।इससे पूर्व नगर में चेतना रैली भी निकाली गई।

यहां डा.भीमराव‌ अंबेडकर पार्क में डा. अम्बेडकर जयंती समारोह समिति द्वारा बाबा साहेब की १३२वीं जन्म जयंती चेतना दिवस के रूप में मनायी गई।इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह और अतिथियों ने बाबा साहेब के चित्र पर पुष्प समर्पित कर‌ उनका भावपूर्ण स्मरण किया। कार्यक्रम में ‌वक्ताओं ने बाबा साहब डॉ अम्बेडकर के समाज सुधारक कार्यों को‌ याद करते‌ हुए‌ कहा कि बाबा साहब के विचारों ने सामाजिक समरसता के साथ संपूर्ण भारत को एक सूत्र में बांधने का काम किया है। आज हमें संकल्प लेना है कि बाबा साहब अंबेडकर के विचारों को अपने जीवन में ,अपने व्यवहार में लाते हुए संपूर्ण भारत के अंदर इन विचारों को अंतिम पायदान पर खड़े लोगों के बीच ले जाने का प्रयास मिलकर करें। इससे पूर्व डा.अंबेडकर‌ पार्क से नगर के मुख्य बाजारों में झांकी और परिवर्तनकारी नारों के साथ चेतना रैली निकाली गई जिसका आयोजन अंबेडकर मिशन ,बामसेफ,मूल निवासी संघ और विद्यार्थी परिषद ने किया।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

समारोह में जीएसएम राजकीय चिकित्सालय के सर्जन डॉ अशोक टम्टा बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे। इसके अलावा नगर पालिका अध्यक्ष कल्पना देवी, शिव मंदिर समिति अध्यक्ष कैलाश पांडे,किशन राम आदि मंचासीन रहे। मंच संचालन दिनेश टम्टा और बिंदु कोहली ने संयुक्त रूप से किया। कार्यक्रम में इन्द्र लाल नवीन कोहली, रमेश राम अनिल कुमार, अशोक कुमार, चन्द्र प्रकाश, चंद्र शेखर,एन पी आर्या, वीरेंद्र कुमार, कुलदीप कुमार आदि मौजूद रहे।इधर, बाबासाहेब डॉ अम्बेडकर जयंती के अवसर पर‌ कांग्रेस पू्र्व जिलाध्यक्ष महेश आर्या, अध्यापक हेम चंद्र, भूपेंद्र चंद्र,मानस आर्या, यशवंत कुमार ने राजकीय चिकित्सालय में रक्तदान किया।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत