किताब कौतिक को लेकर दिल्ली के गढ़वाल भवन में आयोजित हुई परिचर्चा

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड के छोटे शहरों और कस्बों में पढ़ने लिखने की संस्कृति को बढावा देने और ऐतिहासिक स्थलों को प्रचारित करने उद्देश्य से लगातार आयोजित हो रहे अनूठे आयोजन “किताब कौतिक” के बारे में दिल्ली के गढ़वाल भवन में एक परिचर्चा का आयोजन किया गया जिसमें उत्तराखंड के प्रवासियों ने भाग लिया।

बैठक में क्रियेटिव उत्तराखंड के हेम पंत ने बताया कि बच्चों और युवाओं में पढ़ने लिखने की संस्कृति विकसित करने के उद्देश्य से उत्तराखंड के विभिन्न स्थानों में किताब कौतिक अभियान चलाया जा रहा है। पहला किताब कौतिक दिसंबर 2022 को टनकपुर में आयोजित किया गया था। उसके बाद लगभग बैजनाथ, चंपावत, पिथौरागढ़, द्वाराहाट, भीमताल, नानकमत्ता, हल्द्वानी के बाद अब रानीखेत में नवें किताब कौतिक के रूप में किताबों का यह अनूठा मेला लगने जा‌ रहा है।
साहित्य, शिक्षा, पर्यटन और संस्कृति का उत्सव “किताब कौतिक” आठ सफल आयोजन के बाद अपने नवें आयोजन के लिए अगले पड़ाव रानीखेत पहुंच रहा है। 10, 11 व 12 मई 2024 को “आओ, दोस्ती करें क़िताबों से” के विचार के साथ 60 प्रकाशकों की करीब 70 हजार पुस्तकें साहित्य प्रेमियों के अवलोकन और खरीद के लिए उपलब्ध रहेंगी। इसके अलावा साहित्यिक विमर्श, कवि सम्मेलन, नेचर वॉक, पुस्तक विमोचन और सांस्कृतिक संध्या सहित कई रोचक कार्यक्रम होंगे।
10 मई को रानीखेत और आस-पास के विद्यालयों में विभिन्न क्षेत्र के विशेषज्ञों द्वारा कैरियर काउंसलिंग की जाएगी। 11 मई को मुख्य आयोजन का शुभारंभ छावनी परिषद बहूद्देशीय सभागार में होगा। जिसमें देश के करीब साठ पुस्तक प्रकाशकों के स्टाल्स लगेंगे। साहित्यिक परिचर्चा, प्रसिद्ध लेखकों से सीधी बात, स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम, बच्चों के लिए विज्ञान कोना, नेचर वाक, आमंत्रित कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक संध्या, हस्त-शिल्प स्टाल्स, 12 मई को साहित्यिक सत्र में रानीखेत के गौरवशाली इतिहास और भविष्य पर चर्चा, कुमाऊं रेजिमेंट और सैन्य परम्परा पर चर्चा सहित अनेक समसामयिक विषयों पर‌ विमर्श होगा। इसके अतिरिक्त स्कूली बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। 5 से 9 मई तक बाल प्रहरी के संपादक और साहित्यकार उदय किरौला द्वारा बच्चों के लिए रचनात्मक लेखन कार्यशाला आयोजित की जाएगी। कार्यक्रम में वरिष्ठ साहित्यकारों को सम्मानित किया जाएगा। रानीखेत किताब कौतिक में प्रसिद्ध कवि गीत चतुर्वेदी, पद्मश्री बसंती बिष्ट, डॉ शेखर पाठक सहित देशभर से प्रसिद्ध लेखक व साहित्यकार रानीखेत पहुंच रहे हैं।
———
किताब कौतिक की परिचर्चा में हेम पंत, दयाल पांडेय, चारु तिवारी, मनोज चंदोला, सुरेश नौटियाल,किरण पंत, चंदन डांगी,विनोद चंदोला, शिव मुंडेपी,मोहित मेहरा,सतेंद्र रावत,अनिल पंत, दलबीर रावत,मनोज, दीपक, पृथ्वी सिंह, बृजमोहन समेत कई लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल

 

 

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल

 

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल