पैंशनर्स का आंदोलन 67 वें दिन भी रहा जारी, चुनाव में सत्ता दल की खिलाफत पर जोर, 1नवम्बर को निर्णायक फैसला

ख़बर शेयर करें -

भिकियासैंण :तहसील मुख्यालय पर उत्तराखंड पैंशनर्स संगठन रामगंगा भिकियासैंण का धरना आज 67 वे दिन भी जारी रहा। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आज चौखुटिया विकासखंड के पैशनर्स ने धरना दिया। धरना स्थल पर आन्दोलनकारियों ने जमकर सरकार विरोधी नारे लगाए और प्रेरणा दायक जन गीतों से वातावरण को गुंजायमान कर दिया।

आज धरना स्थल पर कैबिनेट की बैठक में गोल्डन कार्ड की कटौती बन्द करने का प्रस्ताव नहीं आने से पैंशनर्स के अन्दर काफी गुस्सा देखा गया। सभी वक्ताओं ने आगामी विधानसभा चुनाव में सरकार के खिलाफ़ चुनाव प्रचार में उतरने पर जोर दिया उनका कहना था सरकार घमंड में आकर जन विरोधी फैसले ले रही है इसलिए उनके घमंड को तोड़ने के लिए राजनीतिक निर्णय लेना जरूरी है। बैठक को संबोधित करते हुए संगठन के अध्यक्ष तुला सिंह तड़ियाल ने कहा कि, 01 नवंबर को सभी विकासखंडों की आम बैठक बुलाई गई है जिसमें निर्णायक फैसला लिया जाएगा। उन्होंने ने कहा पूरे देश में उत्तराखंड ही ऐसा राज्य है जहां पैंशनर्स से गोल्डन कार्ड के नाम पर वसूली हो रही है। और इसका लाभ कुछ भी नहीं है। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि,दस महीने से कटौती हो रही है गोल्डन कार्ड अभी बने नहीं हैं कटौती किस बात की हो रही है।इसका उत्तर सरकार के पास नही है। बैठक को पूर्व प्रधानाचार्य डॉ विश्वम्बर दत्त सती, खीमानंद कबडवाल, तारा दत्त गौड़, बहादुर सिंह बिष्ट, राजेन्द्र सिंह नायक, रमेश चंद्र सिंह बिष्ट, गंगादत्त जोशी, देब सिंह घुगत्याल,आनन्द प्रकाश लखचौरा, किसन सिंह मेहता, मोहन सिंह नेगी, देबी दत्त लखचौरा, राजेन्द्र सिंह मनराल, देब सिंह बंगारी, बालम सिंह बिष्ट, गंगा दत्त शर्मा, बालम सिंह रावत, राम सिंह रावत, राम सिंह बिष्ट, आदि लोगों ने सम्बोधित किया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तरकाशी: एवलांच हादसे में 26 शव बरामद,तीन की खोजबीन जारी
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.