उपनेता प्रतिपक्ष ने सदन में उठाया पुलिस कर्मियों की वेतन विसंगति का मामला

ख़बर शेयर करें -

देहरादून:- उपनेता प्रतिपक्ष करन माहरा ने आज सदन में नियम 58 के तहत उत्तराखंड पुलिस कर्मियों के ग्रेड पे का मामला उठाते हुए कहा कि राज्य निर्माण के बाद भर्ती हुए पुलिस कर्मियों का ग्रेड पे घटाया जा रहा है जबकि सरकार को ग्रेड पे 4600करना चाहिए।
विधान सभा में पुलिस कर्मियों की वेतन विसंगति पर चर्चा के करते हुए विपक्ष ने ग्रेड पे बढा़ने की जोरदार पैरोकारी की।नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, उपनेता करन मेहरा सहित विपक्ष के विधायकों ने मामले को उठाते हुए सरकार से पुलिस कर्मियों का 4600 ग्रेड पे जारी करने की मांग की। कहा कि राज्य निर्माण के बाद भर्ती पुलिस कर्मियों का ग्रेड पे 2800 करना न्याय संगत नहीं है।
सरकार की तरफ से उपसमिति के अध्यक्ष, कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने जवाब देते कहा कि इस संबंध में आदेश कांग्रेस सरकार में हुए थे वर्तमान भाजपा सरकार उसमें सुधार कर रही है और यह मामला मंत्रीमंडल की उप समिति में विचाराधीन है।समिति की रिपोर्ट आने के बाद ग्रेड पे पर कोई फैसला लिया जाएगा।सरकार के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष के विधायकों ने सदन में हंगामा शुरु कर दिया।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा सत्ता पक्ष विपक्ष की आवाज को दबाने का प्रयास कर रहा है।कहा सत्ता आती है चली जाती हैं लेकिन सदन में परम्पराओं का निर्वाह सभी को करना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  गांव-गांव देखने को मिला आजादी का जश्न, ग्राम सभा खनिया में ग्रामीणों ने किया ध्वजारोहण, महिलाओं के देशभक्ति गीतों से‌ बही देशप्रेम की बयार

पुलिस पे ग्रेड के मामले में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सदन में जवाब देते हुए कहा कि पुलिस के मामले में सरकार संवेदनशील है और इस मामले में कमेटी बनाई गई है जिसकी रिपोर्ट मिलते ही पुलिस पे ग्रेड के मामले में जल्द निर्णय लिया ले लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.