जहां ढोलक की थाप पर मंगलाचार गाए जाने थे वहां रह-रह कर गूंज रहीं सिसकियां,सगाई-शादी से पहले बेटी सहित मां -बाप की मौत

ख़बर शेयर करें -

देहरादून में कुछ सप्ताह बाद जहां ढोलक की थाप पर मंगलाचार गाए जाने थे वह घर आज सिसकियों से गूंज रहा था। जहां खुशियों की चहक तारी होनी थी वहां सन्नाटा पसरा था जिसे सिसकियां तोड़ रहीं थी।शनिवार को हुए एक सड़क हादसे ने इस घर की खुशियां पूरी तरह मातम में बदल दी। सड़क हादसे में परिवार के तीन लोगों की मौत के बाद परिवार का सब कुछ बर्बाद हो गया, परिजनों को इस घटना का यकीन नहीं हो रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  स्वर्गपुरी पांडवखोली आश्रम में सीज़न का पहला हिमपात, पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश, हिमपात के साथ कडा़के की ठंड

पिता प्रवीण चौहान माता मंजू चौहान की बेटी शिल्पी की 19 दिसंबर को सगाई की योजना थी और 22 जनवरी को शादी होनी थी शादी के कार्ड भी छप चुके थे, एक क्रूर हादसे ने सारी खुशियां एक पल में मातम में बदल दी और देहरादून के मोहंड के पास हुए सड़क हादसे में तीनों की दर्दनाक मौत हो गई।बेटी शिल्पी की शादी देहरादून के रायपुर में ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में नौकरी करने वाले युवक से तय हुई थी, पिता प्रवीण चौहान सगाई वह शादी के लिए तैयारी कर रहे थे,

यह भी पढ़ें 👉  गुलाब घाटी में पिकअप वाहन अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिरा,एक की मौत,एक घायल

शादी के कार्ड भी छप चुके थे, इन दिनों घर पर रंग रोगन और पुताई का काम चल रहा था, शनिवार को प्रवीण परिवार को लेकर जा रहे थे, तब लोगों को पता चला कि उनकी कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई, क्षेत्रीय पार्षद उषा चौहान ने बताया कि प्रवीण चौहान और उनके परिवार को शादी की खरीदारी करने के लिए रविवार को सहारनपुर जाना था, लेकिन वह शनिवार को ही चले गए और यह हादसा हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *