अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी पहुंची रानीखेत, छावनी परिषद के मनोनीत सदस्य मोहन नेगी ने नगर पालिका व जिले की‌ मांग पर‌ सौंपा ज्ञापन

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत:अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी के प्रथम बार रानीखेत आगमन पर छावनी के पूर्व उपाध्यक्ष मनोनीत सदस्य छावनी परिषद , पूर्व मंडल अध्यक्ष राजेंद्र जसवाल, सामाजिक कार्यकर्ता संजय जोशी ने पुष्पगुच्छ देकर उनका स्वागत किया। शिष्टमंडल ने अपर मुख्य सचिव को रानीखेत क्षेत्र की चिर प्रतिक्षित समस्याओं के समाधान के लिए एक ज्ञापन दिया। उन्होंने अवगत कराया कि रानीखेत छावनी क्षेत्र के नागरिक छावनी के ब्रिटिश समय के जटिल कानूनों से ग्रस्त हैं तथा इन कानूनों को संशोधित करने व रानीखेत सिविल एरिया को रानीखेत चिलियानौला नगर पालिका में सम्मिलित करने की मांग की।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

शिष्ट मंडल ने कहा कि इस विषय पर कई जिला अधिकारियों ने अपनी प्रबल संस्तुति उत्तराखंड सरकार को प्रेषित कर दी है और राज्य के नगर विकास सचिव व मुख्यमंत्री द्वारा भी इस बाबत रक्षा मंत्रालय को पत्र प्रेषित किया गया है। लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिली है उन्होंने अपर सचिव से आग्रह किया कि राज्य कैबिनेट की एक प्रस्ताव रक्षा मंत्रालय को प्रेषित करने की मांग की

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

उन्होंने अपर मुख्य सचिव से रानीखेत को जिला बनाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि रानीखेत में जिला व जिला स्तर की सभी कार्यालय तथा रानीखेत जिला गठन करने में सरकार को कोई खर्चा नहीं होना है। उन्होंने कहा कि रानीखेत जिला गठन की मांग 1955 से लगातार चली आ रही है और गठन के लिए कई बार आंदोलन भी हुए हैं तथा सरकारों ने कई बार जिला गठन का आश्वासन भी दिया लेकिन जिले का दर्जा नहीं मिला। उन्होंने अपर मुख्य सचिव से रानीखेत जिले के लिए सरकार में विषय रखने के लिए आग्रह किया।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत