रानीखेत नगर में थम नहीं रहा आवारा पशुओं का हमला, बिगड़ैल गाय ने अधिवक्ता और उनकी पुत्री को किया घायल

ख़बर शेयर करें -

सांकेतिक चित्र

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत : छावनी नगरी रानीखेत में आवारा पशुओं द्वारा राहगीरों को चोटिल किए जाने का सिलसिला रूक नहीं रहा है। रविवार की पूर्वाह्न आवारा बिगड़ैल गाय‌ ने एक अधिवक्ता और उनकी पुत्री पर हमला कर‌ घायल कर दिया।

रानीखेत में आवारा पशुओं की तादात‌ निरंतर बढ़ रही है। इनमें से कई पशु राह चलते नागरिकों पर हमला कर उन्हें चोटिल कर चुके हैं। बीते माह 15 से 18 मई के दरम्यान एक बिगड़ैल गाय ने की नागरिकों को चोटिल किया था जिसकी शिकायत पर छावनी परिषद प्रशासन ने 19मई को करीब पचास आवारा पशुओं को शहर‌की सीमा से बाहर खदेड़ दिया था लेकिन सांझ होते सभी पशु शहर में वापस लौट आए।

यह भी पढ़ें 👉  नंदादेवी मंदिर के विंशति: प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के मौके पर विभिन्न पूजा अनुष्ठानों के साथ‌ विशाल‌ भंडारा, सैकड़ों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद

इधर ताजा घटना में रविवार के दिन आवारा गाय‌ ने पं गोविंद बल्लभ पंत पार्क के पार्श्व क्षेत्र में अपनी आठ वर्षीय पुत्री के साथ घर लौट रहे अधिवक्ता राजकुमार पांडे को बिगड़ैल गाय ने हमला कर चोटिल कर दिया। इस बात की शिकायत अधिवक्ता पांडे ने छावनी परिषद मुख्य अधिशासी अधिकारी से पत्र लिखकर की है। उन्होंने कहा है कि जब वे पुत्री के साथ घर लौट रहे थे तभी बिगड़ैल गाय ने उन दोनों पर सींगों से हमलावर नीचे गदेरे में फेंक दिया जिसकारण उन्हें चोटें आईं हैं। उन्होंने मुख्य अधिशासी अधिकारी से आवारा पशुओं के आतंक से निजात दिलाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें 👉  नंदादेवी मंदिर के विंशति: प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के मौके पर विभिन्न पूजा अनुष्ठानों के साथ‌ विशाल‌ भंडारा, सैकड़ों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद