रानीखेत के जैनोली में अजब घटना, मृत मान क्रियाकर्म हो चुका व्यक्ति खेत में मिला,24साल से था लापता

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत:-रानीखेत के जैनोली गांव में आज एक अजब-गजब मामला सामने आया है।एक व्यक्ति जो करीब 24 साल से लापता था जिसको मृत मानकर परिजनों ने उसकी अंतिम क्रिया ,मुंडन आदि भी कर लिया था आज अचानक खेतों में मिला।आज उसे परिजन व ग्रामीण डोली में रखकर घर लेकर आए ,उन्हें अभी घर के बाहर तिरपाल के नीचे रखा गया है जहां उन्हें देखने के लिए ग्रामीणों का मजमा लगा है।

यह भी पढ़ें 👉  स्व. इदरीश बाबा स्मृति सद्भावना फुटबॉल मैच का शुभारंभ,ऐरो स्पोर्ट्स और रानीखेत स्पोर्ट्स क्लब के खिलाड़ियों ने किया बेहतरीन प्रदर्शन

प्राप्त जानकारी के मुताबिक ताडी़खेत विकास खंड के जैनोली गांव निवासी माधो सिंह (72वर्ष)पुत्र खड़ग सिंह पिछले करीब24 साल से लापता थे।बताते हैं कि तब किसी कारणवश वे घर छोड़कर चले गए।परिजनों ने काफी वक्त तक ढूंढ तलाश करने के बाद हार मान ली।बता दें कि उनकी लापता अवधि के दौरान ही उनकी बेटी की शादी भी हो चुकी है।परिजनों ने उनके बारे में पता लगाने के लिए घर में जागर लगाकर ईष्ट देवता का आह्वान किया गया।जागर पूजा में यह बात सामने आई कि माधो सिंह अब इस दुनिया में नहीं है।उन्हें मृत मानकर परिजनों ने उनके क्रिया कर्म की सांकेतिक रस्म करने के बाद मुंडन भी कर लिया।

यह भी पढ़ें 👉  दरोगा भर्ती 2015 को लेकर बड़ी खबर, दोषियों के विरूद्ध अभियोग पंजीकृत करने के आदेश जारी


आज अचानक माधो सिंह अपने खेतों में मिले।सूचना मिलते ही परिजनों व स्थानीय ग्रामीणों के आश्चर्य की सीमा न रही ,वे उन्हें डोली में बैठाकर घर लेकर आए।बताया जा रहा है कि आगे की कार्रवाई के लिए परिजनों ने अपने पुरोहित से संपर्क किया है जो हरिद्वार गए हैं उन्होंने ही अपनी वापसी तक माधो सिंह को घर के बाहर रखने को कहा है इसलिए उसे एक तिरपाल के नीचे रखा गया है।पता चला है कि पुरोहित के आने के बाद परम्परानुसार माधो सिहं का दोबारा से नामकरण होगा।इधर आज सुबह से यह घटना क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.