भाजपा कार्यकर्ताओं ने आपदा प्रभावितों की मदद के लिए सीएम से लगाई गुहार

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत:- भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने संयुक्त मजिस्ट्रेट के माध्यम से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को ज्ञापन भेजकर अतिवृष्टि से रानीखेत क्षेत्र में हुए नुकसान की जानकारी देते हुए प्रभावित परिवारों की सहायता का अनुरोध किया है। अतिवृष्टि से हुए नुकसान को लेकर कार्यकर्ताओं ने मुख्य अधिशासी अधिकारी छावनी परिषद र को भी एक ज्ञापन दिया।
ज्ञापन में कहा गया कि उत्तराखंड में विगत 17 अक्टूबर 2021 से भारी बारिश से हर तरफ भारी जानमाल का नुकसान हुआ है ऐसे में रानीखेत नगर व समीपवर्ती क्षेत्रों में भी भूस्खलन जैसी घटनाएं हुई हैं जिससे अनेक परिवार प्रभावित हुए हैं विशेष रूप से नगर में इंदिरा बस्ती, बी डी काॅम्पलेक्स मार्ग, लालकुर्ती, माल रोड ,आशियाना पार्क, श्रीधर गंज ,चिलियानौला आदि स्थानों में हुए भूस्खलन से कई लोगों पर प्राकृतिक आपदा का प्रभाव पड़ा है। साथ ही नगर के समीपवर्ती ग्रामीण क्षेत्र भी प्राकृतिक आपदा से प्रभावित हुए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

मुख्यमंत्री को प्रेषित ज्ञापन में प्रभावित लोगों को जल्द से जल्द आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु एवं अन्य सहायता हेतु आग्रह किया गया है ।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

मुख्य अधिशासी अधिकारी छावनी परिषद को दिए ज्ञापन में प्रभावित परिवारों को आवश्यकतानुसार अस्थाई रूप से आवास प्रदान करने एवं प्रभावित क्षेत्रों के मरम्मत एवं सुधारीकरण एवं प्रभावितों को यथासंभव सहयोग करने का अनुरोध किया गया है।
नगर अध्यक्ष राजेंद्र सिंह जसवाल के नेतृत्व में संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत एवं मुख्य अधिशासी अधिकारी को ज्ञापन सौपने वालों में पूर्व मंडल अध्यक्ष चंदन भगत, विनोद भार्गव, नगर महामंत्री ललित मेहरा, वरिष्ठ भाजपा नेता जगदीश अग्रवाल, ललित कैलब ,अध्यक्ष अनुसूचित मोर्चा विपिन भार्गव, भूपेंद्र कुमार, प्रभात सती ,राजेंद्र कुमार ,विनोद कुमार सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.